मुख्यपृष्ठसमाचारक्रूड ऑयल सस्ता होने के बाद भी बढ़ रहे तेल के दाम!

क्रूड ऑयल सस्ता होने के बाद भी बढ़ रहे तेल के दाम!

• पेट्रोल-डीजल की कीमत में लगी आग
सामना संवाददाता / जयपुर। अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड ऑयल के दाम कम होने के बावजूद केंद्र सरकार लगातार तेल के दामों में इजाफा कर रही है। कल पेट्रोल ३३ और डीजल ३५ पैसे महंगा हुआ जिसके बाद जयपुर में १ लीटर पेट्रोल की कीमत बढ़कर १११ रुपए १४ पैसे पर पहुंच गई। वहीं डीजल प्रति लीटर की कीमत बढ़कर ९४ ८९ पैसे पर पहुंच गई है। इससे पहले मंगलवार को पेट्रोल ८२ और डीजल ६५ पैसे, गुरुवार को पेट्रोल ८८ और डीजल ८२ पैसे, शनिवार को पेट्रोल ८७ और डीजल ८० पैसे और रविवार को पेट्रोल ५५ और डीजल ५७ प्रति लीटर महंगा हुआ था। जिसके बाद विपक्ष ने तेल की कीमतों में हो रहे इजाफे के बाद केंद्र सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। बता दें कि कच्चे तेल के दाम मार्च में अपने १४० डॉलर प्रति बैरल के उच्चतम स्तर से गिरकर १०३ डॉलर तक आ चुके हैं, फिर भी पिछले छह दिनों में तेल कंपनियां पांच बार पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ा चुकी है। तेल कंपनियों का रुख देखते हुए यह माना जा रहा है कि दाम बढ़ने का यह क्रम अगले १५ दिन तक इसी तरह जारी रह सकता है।

धीरे-धीरे बढ़ेंगे दाम
राजस्थान पेट्रोल डीलर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष सुनीत बगई ने बताया कि नवंबर से मार्च के बीच करीब २.२५ अरब डॉलर (१९ हजार करोड़ रुपए) के रेवेन्यू का नुकसान हुआ है। ऐसे में चुनावी सीजन खत्म होने के साथ ही अब सरकार रिफाइनर को नुकसान से बचाने के लिए कीमतें बढ़ाने की अनुमति देगी। ऐसे में अगले कुछ दिनों में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में १५ से २० रुपए तक की बढ़ोतरी हो सकती है। इसके लिए एक साथ बढ़ोतरी न कर के धीरे-धीरे पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ाए जाएंगे।
टैक्स के बाद महंगा हो जाता है पेट्रोल
पेट्रोल का बेस प्राइस ४९ रुपए के करीब है। इस पर केंद्र सरकार २७.९० रुपए एक्साइज ड्यूटी वसूल रही है। इसके बाद राज्य सरकारें इस पर अपने हिसाब से वैट और सेस वसूलती हैं। दाम बेस प्राइस से ३ गुना तक बढ़ गया है। ऐसे में बिना टैक्स में राहत दिए पेट्रोल के दाम कम कर पाना मुमकिन नहीं है।

अन्य समाचार