मुख्यपृष्ठनए समाचारयात्री बनकर ऑटो चालकों से लूट... पुलिस ने जान पर खेलकर बचाई...

यात्री बनकर ऑटो चालकों से लूट… पुलिस ने जान पर खेलकर बचाई चालक की जान

  • दो लुटेरे हुए गिरफ्तार

सामना संवाददाता / मुंबई

यात्री बनकर ऑटो चालकों को लूटने वाले गिरोह के दो लोगों को रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। इनका एक साथी भागने में सफल रहा। इस दौरान पुलिस ने इन लुटेरों के हमले में गंभीर रूप से घायल चालक की जान बचाकर अस्पताल मे भर्ती कराई है। गिरफ्तार आरोपियों के खिलाफ मुंबई सहित आस-पास के पुलिस स्टेशनों मे 12 मामले दर्ज हैं।
पुलिस उपायुक्त हेमराज राजपूत ने बताया कि घटना 29 और 30 की देर रात की है। पुलिस कांस्टेबल मछिंदर खराड़े और संतोष डमाले पेट्रोलिंग कर रहे थे, तभी एक व्यक्ति द्वारा मदद के लिए पुकार लगाए जाने का सुनाई दिया। जब पास में जाकर देखे तो तीन संदिग्ध अंधेरे में एक ऑटोरिक्शा को पीट रहे थे। नजदीक जा कर देखा तो हमलावर चालक पर चाकू से हमला कर रहे थे। पुलिस उस चालक को हमलावरों से छुडाकर दोनों लुटेरों को पकड़ा, जबकि तीसरा वहां से भागने में कामयाब हो गया। सहायक पुलिस निरीक्षक दीपक दलवी और उनकी टीम ने घायल चालक को इलाज के हॉस्पिटल में भर्ती किया और दोनों लुटेरों को पकड़कर पुलिस स्टेशन लाया। मानखुर्द पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक महादेव कोली ने बताया कि लुटेरों का मोडस अपरेंडिस है कि यात्री बनकर देर रात रिक्शे में बैठो और इलाके से दूर ले जाकर उन्हें लूटो, क्योंकि इससे चालकों की दिन भर की कमाई मिल जाती है और इनकी पहचान भी जाहिर नहीं होती है। पुलिस जांच कर रही है कि इन्होंने कितने लोगों को लूटा है और इनकी गैंग में कितने लोग हैं।

अन्य समाचार