मुख्यपृष्ठस्तंभरौबीलो राजस्थान : नाटकिया नेता

रौबीलो राजस्थान : नाटकिया नेता

बुलाकी शर्मा राजस्थान

उम्मीद माथै दुनिया टिक्योड़ी है। सांस जित्तै आस। चुनाव में ऊभा उम्मीदवार ई आपां जिसा ई दुनिया रा बासिंदा है। जीत्यां पछै चायै बे खुद नै वीआईपी मानता थकां आपां साम्हीं झांको ई ना, पण अबार बे आपां वोटरां नै आपरा माई-बाप, भौमियो जी-पित्तर जी मानता थकां ळुळ-ळुळ नै धोक देय रैया है अर मन में आ उम्मीद बणा राखी है कै जीतैला बे ही। चुनावां में जिको ई ऊभो हुवै, बो जीत री उम्मीद सूं ई हुया करै।
चुनाव में ऊभो हुवणो सोरो पण दर-दर भटकनै वोटरां सूं वोट री अरदास करणी भोत दौरी। नेतागीरी रै जोम में कै सत्ता रै मद में जिका अ‍े.सी. रूम में बैठ्या हुकुम चलाया करता, गरीब-गुरबै सूं मिलण में आपरी हेठी समझता, बां नै बां रै द्वारै-द्वारै जायनै वोटां री भीख मांगणी पड़ रैयी है अर अबार वोटरां रो व्यवहार वीआईपी उनमान है।
पैला जीत रो इमरत पियोड़ां रै तो जीत री राळ्‌‌यां पड़ती रैवै। अ‍ेकर जीत्योड़ो, सदीव जीतण रा सुपना देखै पण वोटर चुनावां में ई याद आया करै। वोटरां सूं संपर्क करण सारू बां ने टूट्योड़ी-फूट्‌योड़ी-गज-गज रा खाडा धारण करियोड़ी सड़‌कां, गंद‌गी सूं गिंधावता नाळा, बीजळी रै खंभा सूं लटकता तारां सूं ई संपर्क करणो पड़ै। जन-संपर्क करतां बांरी फीच्यां पीड़ सूं चबक-चबक करण ढूवैâ पण चैरै ऊपरां मुळक चिपायां जितावण री अरज करता रैवै।
चुनावां री टैम उम्मीद‌वारां री ग्रह-दसा इसी माड़ी हुय जावै वैâ बां नै चाय बणावणी पड़ै तो खेतीहर मजूर बणनै काम करणो पड़ै। हरजस वैâ लोकगीत गावणा पड़ै तो डांस ई करणो पड़ै। बूट-पॉलिश करणी पड़ै तो तेल-मालिस ई करणी पड़ै। जाणै नेता नीं, अ‍े अभिनेता है, नाटकिया है। जिकां रै बंगलै राम रमै, होंठ हिलायां सगळा काम हुवै, बां नै इसी ड्रामेबाजी वोटरां नै बिलमावण सारू करणी पड़ै। वीडियो वायरल करनै बे ओ संदेस देवणो चावै, जनता रा साचा सेवक बे है अर बे ही वोट रा साचा हकदार है।
इसा कौतक वोट पड़न री तारीख तांई ई हुया करै। वोटर अठीनै ईवीअ‍ेम मशीन रो खटको दबाय’र लोकतांत्रिक हुवण रो आपरो फरज पूरो करै, बठीनै ई बे सेवाभाव रो चोळो उतारनै पाछा वीआईपी बण जावै।
जनता चावै कै चुनाव हुवता रैवणा चाहिजै जणै ई अ‍े नेता आम आदमी बणनै साम्हीं आवता रैवैला पण जीत्योड़ा नेता चुनाव चावै ई कोनी। ओ तो लोकतंत्र रो बंधन है जिणसूं अ‍े बंध्योड़ा है। अ‍े तो सदीव सारू राजा-महाराजा री भांत रैयत माथै राज करणो चावै।

अन्य समाचार