मुख्यपृष्ठस्तंभरौबीलो राजस्थान : चुनड़ी में दाग लगाऊं कैसे!

रौबीलो राजस्थान : चुनड़ी में दाग लगाऊं कैसे!

बुलाकी शर्मा राजस्थान

हर कोई आपरी छिब बेदाग राखणी चावै। बो जाणै कै आम, अमरूद जिसा फळां रै दागी हुयां बां री कीमत घट जावै। दुकानदार ई दागी फळां नै ताजा फळां सूं न्यारा राखै। दागी इसा चमत्कारी कै चोखा फळां नै ई आप जिसा बणा न्हाखै। कंजूस और लोभी विरती रा खरीदार दागी फळां नै खरीदिया करै। इसा खरीददार आपरै परिवार रै स्वास्थ्य रो ध्यान राखण री ठौड़ पईसा नै महतव दिया करै।
आपरै परिवार रो भलो चावणिया मिनख ना दागी फळ खरीदै अर ना ई आपरी जिंदगाणी री चादर माथै भूंड-भुंडाई रो कोई दाग लगावणो चावै। भला अर खरा मिनख भोत सोच-विचार करनै चालै। ओछा अर खोटा काम करण सूं डरै। ज्यों कि त्यों धर दीनी चदरिया। बो बेदाग रैवणो चावै क्यूंकै  बीं नै ठाह है कै भूल सूं ई कोई दाग लागग्यो तो बो आखी उमर साथै चालणो है। बीं नै दागी बतावता बींरै माथै में धूड़ घालणियां री फौज भैळी हुय जावणी है। पण राजनीति रा पक्का खिलाड़ी दाग लागण सूं रत्ती भर ई कोनी डरै। बे बां नै तमगा मानै।
राजनीति रा दागी, दागी नीं बाहुबली मानीजै अर बेदाग छिबआळा बां सूं डरै। चुनावां में ई बे ऊभा हुवै, पार्टियां बां नै टिकट देवै। कोरट-कचैड़ियां में बां रै खिलाफ मुकदमा चालता रैवै अर बे बां रो सामनो करता खुद नै जनता रा सेवक बतावता रैवै। चुनाव आयोग रै निर्देशां री पालना में चुनाव में ऊभा उम्मीदवारां अर बां री पार्टियां नै अखबारां अर टीवी चैनलां माथै बां रो आपराधिक रिकार्ड जनता नै बतावणो पड़ै अर बे इयां बतावै जाणै मोटे मान-सनमान री जाणकारी दे रैया है। राजनीतिक दलां री पैली पसंद बेदाग नीं, दागी नेता है। राजनीति में हॉर्स ट्रेडिंग एक्सपर्ट, दल बदलू, हत्या, गुंडागर्दी, दंगा-फसाद आद रा आरोपी दागी रूप नीं, साफ-सुथरी छिब रा नेता रूप आव-आदर पावै अर प्राथमिकता सूं इसा ‘बेदाग छिब रा महापुरुषां’ नै पार्टियां चुनाव में ऊभा करै। दागी नेतावां ने सफल देख’र बेदागी साफ छिब रा नेता ई आपरी जिंदगाणी‌ री चादर नै दागी बनावण री खैचळ करै तावैâ पार्टियां बीं नै गुमैज सूं आपरो उम्मीदवार बणावै।
अचंभै री बात आ है के आपां परिवार रै स्वास्थ्य रो ध्यान राखतां दागी फळ कोनी खरीदां पण दागी नेतावां नै वोट देंवता लोकतंत्र रै स्वास्थ्य री चिंता दर ई कोनी करां!

अन्य समाचार