मुख्यपृष्ठअपराधआरटीओ का स्टिंग दलालों का निकलेगा 'दम'! ....फर्जी लाइसेंस बनानेवालों को पुलिस...

आरटीओ का स्टिंग दलालों का निकलेगा ‘दम’! ….फर्जी लाइसेंस बनानेवालों को पुलिस ने भेजी नोटिस

सामना संवाददाता / मुंबई
वाशी आरटीओ के बाहर ही दलालों द्वारा लर्निंग लाइसेंस का झोल किया जा रहा था। इसका खुलासा खुद आरटीओ के स्टिंग से हुआ है। दलालों द्वारा बिना अभ्यर्थी के लर्निंग लाइसेंस की परीक्षा पास कराने का मामला सामने आया है। अब इस मामले में एपीएमसी पुलिस ने एक दलाल के खिलाफ शिकायत दर्ज कर गिरोह से जुड़े अन्य दलालों को भी नोटिस जारी की है।
वाहन चालकों की सुविधा के लिए आरटीओ की सभी प्रक्रियाएं ऑनलाइन कर दी गई हैं, जिसमें लाइसेंस बनाने से लेकर किसी भी तरह के रजिस्ट्रेशन या शुल्क भरने की सुविधाएं शामिल हैं। इस बीच राज्य परिवहन विभाग को जानकारी मिली थी कि कुछ दलाल बिना फर्जी लोगों से टेस्ट दिलवाकर लर्निंग लाइसेंस बनवाने का कार्य करते हैं। सूचना के बाद सभी आरटीओ कार्यालयों को सत्यापन के लिए अधिसूचित किया गया था।

अधिकारियों ने भेजा डमी अभ्यर्थी
नई मुंबई आरटीओ हेमांगिनी पाटील के मार्गदर्शन में सहायक उप क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी गजानन गावंडे, सहायक निरीक्षक तुषार कदम ने प्रत्यक्ष रूप से जांच में पाया कि आरटीओ कार्यालय के पास ही एक दलाल फर्जी कार्य को अंजाम दे रहा है। एक अधिकारी को डमी अभ्यर्थी तुषार कदम बनाकर दलाल के पास भेजा गया। कदम ने दलाल को आधार कार्ड दिया और सांगली में रहने वाले उसके दोस्त का लर्निंग लाइसेंस बनाने की बात कही। इसके लिए दलाल ने १,५०० रुपए लिए और उस आधार कार्ड के माध्यम से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन किया। उसके कुछ समय बाद बिना अभ्यर्थी की मौजूदगी में लर्निंग लाइसेंस की परीक्षा उत्तीर्ण कर लाइसेंस व्हॉट्सऐप कर दिया।

हर तरफ फैला है जाल
इस मामले में आरटीओ अधिकारियों द्वारा यह भी पाया गया है कि ये सिर्फ नई मुंबई ही नहीं, मुंबई और ठाणे के अन्य दलालों के संपर्क में हैं, जिसके बाद आरटीओ अधिकारी के बयान पर एपीएमसी पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई गई। अब इस मामले में एपीएमसी पुलिस के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक मणिक नलावडे की टीम ने जांच शुरू की है। टीम के अधिकारियों ने शहर के कुछ दलालों के पास जाकर इसी तरह से आवेदन किया, जिसमें दलाल ने ये सब करने के लिए पैसे मांगे। अब इस मामले में एपीएमसी पुलिस ने शहर के अन्य दलालों को भी नोटिस भेजी है।

अन्य समाचार