मुख्यपृष्ठनए समाचारविदेश जाने की मंशा का मटियामेट! ...टूर पैकेज के नाम पर नीम...

विदेश जाने की मंशा का मटियामेट! …टूर पैकेज के नाम पर नीम हॉलीडेज ट्रैवेल एजेंसी की धोखाधड़ी

सामना संवाददाता / मुंबई
क्या आप विदेश घूमने का मन बना रहे हैं? और इसके लिए किसी ट्रैवेल एजेंसी की मदद लेना चाहते हैं तो बहुत सोच-समझकर ट्रैवल एजेंसी का चयन करें, वरना विदेश जाने की मंशा पूरी भी नहीं होगी और आप ठगे जाएंगे, वह अलग से। ऐसा ही कुछ हुआ है, राजस्थानी समाज के साहित्य प्रेमी एवं उद्योगपति दीनदयाल मुरारका के साथ। उन्होंने इसी साल जुलाई महीने में यूरोप टूर पर जाने के लिए नीम हॉलीडेज प्रा. लि. के मालिक मनीष रामगोपाल अग्रवाल को चार लाख नब्बे हजार रुपए दिए थे। यह एक पैâमिली टूर पैकेज था। यात्रा ७ जुलाई, २०२३ को शुरू होनी थी। इसमें उनकी बेटी, दामाद एवं उनके दो पुत्र जानेवाले थे। यह यात्रा अग्रोहा विकास ट्रस्ट, केंद्रीय समिति मुंबई के मार्गदर्शन में आयोजित की गई थी।
विदेश यात्रा के तय समय से पहले नीम ट्रैवेल्स के मनीष अग्रवाल ने बताया कि उनकी बेटी, जंवाई के परिवार के चार आदमी का वीजा पास नहीं हुआ। वीजा नहीं मिलने पर मुरारका द्वारा अपने दिए हुए एडवांस पैसे वापस मांगने पर मनीष अग्रवाल ने रुपए लौटाने से मना कर दिया। इतना ही नहीं, बात बढ़ने पर वे मुरारका के साथ बदतमीजी से बात करने लगा। मनीष अग्रवाल ने उन्हें कहा कि तुम्हारा पैसा वापस नहीं मिलेगा, तुम्हे जो करना है कर लो।
मुरारका ने बताया कि यह सुनने के बाद हमें तो धक्का लगा। जो व्यक्ति पैसा लेने से पहले सभ्य दिख रहा था, वह ऐसा अशोभनीय व्यवहार करेगा, इसकी उम्मीद नहीं थी। उन्होंने इस संबंध मे मनीष अग्रवाल, नीम हॉलीडेज के खिलाफ वनराई पुलिस स्टेशन गोरेगांव-पूर्व में लिखित शिकायत दर्ज कराई है। इसके साथ ही उन्होंने अपने वकील अशोक श्रावगी के माध्यम से कानूनी नोटिस भी ७ अगस्त, २०२३ को नीम हॉलीडेज को भेजी थी। इसके अलावा मुंबई महानगर के नॉर्थ विभाग के अतिरिक्त पुलिस कमिश्नर राजीव जैन के ऑफिस में भी शिकायत दर्ज की गई है। नीम हॉलीडेज के मनीष अग्रवाल से संपर्क किए जाने पर बताया कि इस संदर्भ में दीनदयाल मुरारका से बात हुई है, आपस में मामले को सुलझाने में जुटे हैं। जल्द ही यह मामला हल हो जाएगा।
सतर्क रहना चाहिए
मुरारका का कहना है कि नीम हॉलीडेज को वर्ली के एक निवासी के कोर्ट केस के मामले में मुंबई की उपभोक्ता अदालत ने नवंबर २०२२ में जुर्माना एवं ब्याज सहित दी गई पूरी धनराशि लौटाने का आदेश भी दिया था। इस संबंध में अधिक खोजबीन करने पर मुझे मालूम पड़ा कि इंटरनेट पर कस्टमर फीडबैक के रूप में भी काफी शिकायतें लोगों द्वारा इस ट्रैवल एजेंसी की खराब सर्विसेज देने के कारण दर्ज की गई हैं। इसलिए लोगों को भविष्य में इस तरह की कंपनियों से व्यवहार करते समय सतर्क रहना चाहिए।

अन्य समाचार