मुख्यपृष्ठनए समाचारबंद होनी चाहिए अनधिकृत मल्टी-ब्रांड आउटलेट्स द्वारा दोपहिया वाहनों की बिक्री!

बंद होनी चाहिए अनधिकृत मल्टी-ब्रांड आउटलेट्स द्वारा दोपहिया वाहनों की बिक्री!

ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन महासंघ ने की कार्रवाई की मांग
सामना संवाददाता / मुंबई
फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन ने मुंबई और दिल्ली राज्य परिवहन विभाग के साथ मिलकर दोपहिया वाहनों की बिक्री करनेवाले अनधिकृत मल्टी-ब्रांड आउटलेट्स के अवैध कार्यों पर चिंता व्यक्त करते हुए इन पर कार्रवाई करने की मांग की है। ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन के महासंघ ने अपनी शिकायत में कहा है कि ये मल्टी-ब्रांड आउटलेट्स डीलरों से थोक में अपंजीकृत वाहनों को ले रहे हैं और सुरक्षा मापदंडों की अनदेखी करते हुए बिना किसी जवाबदेही के ऑथराइज्ड डीलरों के माध्यम से ओरिजनल इक्विपमेंट निर्माताओं द्वारा दी जानेवाली कीमतों से अधिक रियायती दरों पर ग्राहकों को फिर से बेच रहे हैं। फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन द्वारा जारी किए गए बयान के अनुसार, इसने न केवल वैध डीलरशिप को प्रभावित किया है, बल्कि ब्रांड और डीलर भागीदारों में ग्राहकों के विश्वास को भी हिला दिया है। आगे कहा गया है कि ये एमबीओ जीएसटी, आयकर, नकली/कम मूल्य वाली बीमा पॉलिसी जारी करने, बिना रजिस्ट्रेशन/ हाई सेफ्टी रजिस्ट्रेशन प्लेट और बिना हेलमेट के वाहनों की डिलिवरी भी शामिल हैं, जिसकी वजह से अलग-अलग प्लेटफॉर्म पर राजस्व हानि होती है। एसोसिएशन ने महाराष्ट्र, मुंबई और दिल्ली के परिवहन आयुक्तों से आग्रह किया कि वे इन मल्टी ब्रांड आउटलेट्स के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करें और उद्योग मानकों और नियमों का अनुपालन सुनिश्चित करें। फेडरेशन ने कहा है कि महाराष्ट्र के मुंबई और दिल्ली के परिवहन आयुक्तों ने इस अवैध प्रैक्टिस के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है।

अन्य समाचार