मुख्यपृष्ठनए समाचार‘संजीवनी’ से मिलेगा जीवनदान!

‘संजीवनी’ से मिलेगा जीवनदान!

  • सर्पदंश के शिकार लोगों की बचेगी जान
  • परेल हाफकिन में तैयार हुई किट

सामना संवाददाता / मुंबई
बारिश के मौसम में राज्य के ग्रामीण भागों में सांप काटने की घटनाएं बढ़ जाती हैं। इस घटना में कई लोगों को जान भी गंवाना पड़ता है। ऐसे में इस दुर्घटना से लोगों की जिंदगी बचाने के लिए अब हाफकिन ने सर्पदंश विरोधी संजीवनी किट नाम से खास दवा तैयार की है। इस किट की मदद से सर्पदंश के बाद लोगों का उपचार कर उनकी जान बचाई जा सकती है। राज्‍य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने हाल ही में हाफकिन का दौरा कर उसमें तैयार किए जा रहे एंटीवेनम दवाई का जायजा लिया।
गोल्डन ऑवर में काम आएगी
सर्पदंश संजीवनी किट
हाफकिन के विशेषज्ञ डॉक्टरों ने बताया कि सांप काटने के बाद पहला एक घंटा बहुत महत्वपूर्ण होता है। इसे डॉक्‍टरी भाषा में गोल्डन ऑवर कहा जाता है। इस दौरान एंटी स्नैक वेनम सिरम मिलने पर मरीज की जान बचाई जा सकती है। हाफकिन ने बताया कि उसके द्वारा तैयार किए गए सर्पदंश विरोधी संजीवनी किट में दवा, सििंरज, आइनमेंट, बैंडेज, रुई, बैंडेज पट्टी के अलावा जानकारी के लिए पुस्तिका भी रखी गई है। इस किट से कैसे उपचार किया जाए इसकी पूरी जानकारी इस पुस्तिका में दी गई है।
पैरामेडिकल कर्मचारी भी दे सकेंगे दवाई
हाफकिन औषिध बोर्ड के प्रबंध निदेशक नागरगोजे ने बताया कि सांप काटने पर इंजेक्शन डॉक्टरों की देखरेख में ही दिया जाता है लेकिन कई बार डॉक्टर उपलब्ध नहीं होने पर सक्षम पैरामेडिकल कर्मचारियों भी इसे दे सकते हैं। इससे प्रयोग के तौर पर जालना जिले में इसकी शुरुआत की जाएगी।
सर्पदंश शिकार लोगों के लिए संजीवनी साबित होगी किट
उल्लेखनीय है कि मुंबई समेत पूरे महाराष्ट्र में प्रति वर्ष सांप काटने की लाखों घटनाएं सामने आती हैं। सर्पदंश के जिन लोगों को सही समय पर उपचार नहीं मिल पाता उनकी मौत हो जाती है। कई बार सांप काटने से होनेवाली मौत के आंकड़े भी दर्ज नहीं किए जाते। गांवों से अस्पताल दूर होते हैं इसलिए ऐसी जगहों पर सांप कटने से मरनेवालों की संख्‍या अधिक होती है। ऐसी जगहों पर यह संजीवनी किट लोगों की जान बचाने में बहुत काम आएगी। इस संजीवनी किट की उक्त जानकारी देते हुए हाफकिन की तरफ से बताया गया कि संजीवनी किट सर्पदंश शिकार लोगों के लिए संजीवनी साबित होगी।

अन्य समाचार