मुख्यपृष्ठनए समाचारइस्लामी जिहादियों के खिलाफ... सड़कों पर उतरेगा संत समाज!

इस्लामी जिहादियों के खिलाफ… सड़कों पर उतरेगा संत समाज!

  • इस्लामी जिहादियों के आतंक से देश को बचाने के लिए संतों ने कसी कमर
  • नूपुर शर्मा की हत्या और रेप की धमकी देनेवाले जिहादियों को जेल भेजने की उठाई आवाज

उमेश गुप्ता / वाराणसी

वैष्णव विरक्त संत समाज की ओर से सुदामा कुटी में काशी धर्म परिषद की बैठक इस्लामी जिहादियों के आतंक से भारत को बचाने के उद्देश्य से बुलाई गई। काशी धर्म परिषद ने पातालपुरी मठ के महंत बालक दास जी महाराज की अध्यक्षता में शुक्रवार (जुमे) को देशभर में जुमे की नमाज के बाद नमाजियों द्वारा की गई हिंसा के लिए निंदा प्रस्ताव पारित किया। सुदामा कुटी में जुटे संतों, महंतों एवं आचार्यों ने शुक्रवार की घटना को भयावह और भारतीयों को डराने वाला बताया। जिस तरह से इस्लामी जिहादी नमाज पढ़ने के बाद सड़कों पर देश को जला रहे है, उसे संत समाज कभी बर्दाश्त नहीं करेगा। बता दें कि काशी धर्म परिषद की बैठक में नूपुर शर्मा का गला काटने और रेप की धमकी की कठोर निंदा की गई और इस्लामी जिहादियों पर तत्काल अंकुश लगाने की सरकार से अपील की गई।
काशी धर्म परिषद के अध्यक्ष महंत बालक दास ने कहा कि देश जल रहा है, हमारे मंदिर तोड़े जा रहे हैं। हमारे भगवानों का रोज अपमान किया जा रहा है। हम कानून के रास्ते से ही इस्लामी जिहादियों के खिलाफ कार्र्रवाई चाहते हैं। देश को जलने से बचाने के लिए संत समाज सड़कों पर उतरेगा। हम सभी पंथों, अखाड़ों एवं नागाओं से वार्ता कर बड़ा फैसला  लेंगे। शिवलिंग में छेद करनेवाले इंतजामिया कमिटी के सदस्यों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाएंगे। काशी धर्म परिषद ने शुक्रवार को नमाजियों द्वारा की गई देशभर में हिंसा के लिए निंदा के साथ १६ प्रस्ताव पारित किए, जिसे देशभर के धर्माचार्यों और राज्य सरकारों और भारत सरकार को भेजा जाएगा।

१६ प्रस्ताव में ५ प्रमुख प्रस्ताव है….

१. शुक्रवार (जुमे) के दिन हिंसा करनेवाले मुस्लिम कट्टरपंथी नमाजियों की वजह से देश का माहौल खराब हो रहा है। इन पर प्रतिबंध लगाया जाए।
२. जिस मस्जिद से पथराव हो रहा है, उस पर पूर्णत: तालाबंदी की जाए।
३. नूपुर शर्मा को रेप की धमकी देनेवाले जिहादी हैवानों पर रासुका लगाया जाए।
४. इस्लामी कट्टरपंथियों पर सख्त कार्रवाई की जाए।
५. देश को इस्लामी आतंकियों से बचाने के लिए संतों को भी सड़क पर उतरना होगा।
बैठक में प्रमुख रूप से पातालपुरी मठ के पीठाधीश्वर महंत बालक दास महाराज, सुदामा कुटी के महंत राघव दास महाराज, रामजानकी मठ बुलानाला के महंत अवधकिशोर दास महाराज, महंत अवधेश दास महाराज, रामपंथ के पंथाचार्य डॉ० राजीव श्रीगुरु, महंत प्रमोद दास महाराज, महंत सत्यनारायण दास, नारायण दास, डॉ. श्रवण दास, महंत रामेश्वर दास, महंत रामशरण दास, महंत सियाराम दास, कोतवाल मोहन दास, कोतवाल विजय दास, महंत ईश्वर दास, महंत सर्वेश्वर शरण दास, महंत चंद्रभूषण दास, महंत वैभव गिरी, तांडव महाराज, रामेश्वर दास, महंत श्रीराम दास ने विचार व्यक्त किया।

अन्य समाचार

सब ठीक है?