" /> नए साल में नया ‘तोहफा’! मुंब्रा वाई जंक्शन पर बनेगा ब्रिज

नए साल में नया ‘तोहफा’! मुंब्रा वाई जंक्शन पर बनेगा ब्रिज

जेएनपीटी-पुणे, गुजरात-नासिक महामार्ग का भार होगा कम

एमएमआरडीए का फास्ट काम
दिसंबर २०२१ में होगा पूर्ण
ट्रैफिक मुक्त हो जाएंगे ठाणेकर

जेएनपीटी-पुणे और गुजरात-नासिक महामार्ग पर मुंब्रा स्थित वाई जंक्शन पर वाई ब्रिज का काम एमएमआरडीए द्वारा तेज गति से किया जा रहा है। एमएमआरडीए (मुंबई महानगर प्रदेश विकास प्राधिकरण) द्वारा मिली जानकारी के अनुसार वाई जंक्शन पर बनाए जा रहे वाई ब्रिज का कार्य एमएमआरडीए ने लगभग ७० से ८० प्रतिशत पूर्ण कर लिया है। एमएमआरडीए का कहना है कि इस वर्ष के अंत तक ब्रिज का कार्य पूर्ण कर लिया जाएगा और नए वर्ष में नए तोहफे के रूप में यात्रियों की सेवा के लिए खोल दिया जाएगा। ठाणे ट्रैफिक पुलिस के मुताबिक इस वाई जंक्शन पर बन रहे वाई ब्रिज के पूर्ण होने से जेएनपीटी-पुणे और गुजरात-नासिक महामार्ग ट्रैफिक की समस्या का अंत होगा और यात्रियों का समय भी बचेगा।
९७.९७ करोड़ रुपए का खर्च
कुछ वर्ष पहले जेएनपीटी-पुणे व गुजरात-नासिक महामार्ग पर हो रही ट्रैफिक समस्या को सुलझाने के लिए मुंब्रा स्थित वाई जंक्शन पर वाई ब्रिज बनाने और सड़क विस्तारीकरण का कार्य एमएमआरडीए ने अपने हाथ लिया था। उस वक्त प्रस्ताव अनुसार सभी कार्यों के लिए एमएमआरडीए ने कुल ९७.९७ करोड़ रुपए खर्च करने का निर्णय लिया था।
सड़कें हो रही हैं चौड़ी
वाई जक्शन पर ब्रिज के साथ ही एमएमआरडीए ने सड़क विस्तारीकरण के कार्य का भी जिम्मा लिया था। इसी परियोजना के तहत वाई जक्शन के ऊपर से फ्लाईओवर और नीचे सड़क की चौड़ाई को भी बढ़ा दिया गया है, जो ट्रैफिक को पूरी तरह समाप्त करने में मदद करेगा।
इस प्रकार ट्रैफिक होगा कम
जेएनपीटी-पुणे और गुजरात-नासिक महामार्ग पर मुंब्रा स्थित वाई जंक्शन पर अब तक कोई भी फ्लाईओवर ब्रिज नहीं था, इसी वजह से भारी वाहनों के साथ ही अन्य छोटे वाहनों को ट्रैफिक समस्या का सामना करना पड़ता था। अब मुंब्रा स्थित वाई जंक्शन पर वाई ब्रिज बनने और ब्रिज के नीचे की सड़कों के चौड़ा होने से यात्रियों को ट्रैफिक समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा।
२० मिनट का समय और ईंधन बचेगा
जेएनपीटी-पुणे और गुजरात-नासिक महामार्ग पर अधिकतर बड़े वाहन चलते हैं, जिनमें ट्रक, ट्रेलर और अन्य भारी वाहनों का समावेश है। इस ब्रिज के बनने से बड़े वाहन ऊपर से और छोटे वाहन ब्रिज के नीचे से दौड़ सकेंगे। इससे बड़े वाहनों सहित छोटे वाहनों का लगभग २० मिनट का समय और र्इंधन बचेगा।
बेस्ट वर्क
जेएनपीटी-पुणे और गुजरात-नासिक महामार्ग से गुजरनेवाले बड़े वाहनों के कारण ठाणे शहर की अंदरूनी सड़कों पर भी ट्रैफिक समस्या देखने को मिलती है। इस परियोजना के पूर्ण होने से ठाणे शहर की सड़कों की ट्रैफिक समस्या समाप्त होगी। एमएमआरडीए द्वारा किया जा रहा यह बेस्ट वर्क है।
बालासाहेब पाटीrल, ट्रैफिक पुलिस उपायुक्त
चैन की सांस लेंगे मुंब्रावासी
जेएनपीटी-पुणे और गुजरात-नासिक महामार्ग पर चलनेवाले भारी वाहनों की वजह से जो ट्रैफिक समस्या का निर्माण होता है, उससे मुंब्रा की अंदरूनी सड़कों सहित अन्य सड़कों पर भी ट्रैफिक समस्या पैदा होती है। इस परियोजना के पूर्ण होने से ट्रैफिक समस्या समाप्त होगी और मुंब्रावासी चैन की सांस लेंगे।
योगेश पूरी, स्थानीय नागरिक (मुंब्रा)
ट्रैफिक समस्या होगी समाप्त
एमएमआरडीए द्वारा मुंब्रा स्थित वाई जंक्शन पर बनाया जा रहा वाई ब्रिज का लगभग कार्य पूर्ण कर लिया गया है। एमएमआरडीए ने नए वर्ष में इस परियोजना को शुरू करने का लक्ष्य निश्चित किया है। इस परियोजना से ट्रैफिक समस्या समाप्त होगी।
एकनाथ शिंदे, नगरविकास मंत्री