मुख्यपृष्ठखबरेंसरोकार : मुंबई की सड़कों से भंगार ‘तड़ीपार’!

सरोकार : मुंबई की सड़कों से भंगार ‘तड़ीपार’!

• एक्शन में आई महानगरपालिका
• जर्जर वाहनों की हो रही है सफाई
• मनपा चला रही है विशेष अभियान
• १९१६ अथवा वॉर्ड में करें शिकायत
रामदिनेश यादव।  मुंबई की सड़कों पर कई वर्षों से खड़े भंगार और लावारिस वाहनों के चलते आम जनता को कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। कभी दुर्घटना तो कभी बदबू और कई आपराधिक मामलों की वजह बन रहे इन भंगार वाहनों से मुंबईकर परेशान हैं। सड़कों पर ट्रैफिक यातायात और आवाजाही में रोधक बन रहे भंगार अवस्था में पड़े इन लावारिस वाहनों का पिछले दो सप्ताह से मनपा तेजी से सफाया कर इन्हें मुंबई की सड़कों से तड़ीपार कर रही है। इन वाहनों को हटाने के लिए मनपा ने अभियान छेड़ दिया है। इन वाहनों को मनपा तेजी से उठा रही है और उनके मालिकों को नोटिस दे रही है। यदि नोटिस के १५ दिनों के भीतर संबंधित व्यक्ति ने अपने वाहन को मुक्त नहीं कराया तो मनपा उसे जब्त कर ले रही है और आगामी दिनों में उसे नीलाम करेगी। नीलामी से प्राप्त होनेवाली रकम को राजस्व में जमा कराया जाएगा।
बता दें कि मुंबई महानगर में कई ठिकानों पर लोगों ने सड़कों पर पुराने वाहन खड़े कर उसे रामभरोसे छोड़ दिया है। वर्षों से खड़े ये वाहन भंगार में तब्दील हो गए हैं, जिससे सड़कों पर ट्रैफिक की समस्या आम हो गई है। इतना ही नहीं, इन वाहनों के चलते सड़कों पर आने-जानेवालों को दिक्कतों का सामना करना पड़ता है तो यातयात व्यवस्था भी प्रभावित होती है। कई बार इनसे दुर्घटना होती देखी गई है, तो कुछ आपराधिक प्रवृति के लोग अपराध को अंजाम देने के लिए भी इसका उपयोग करते हैं। ऐसे में लोग पिछले कुछ समय से मनपा के पास इसकी शिकायत कर रहे थे। इसके बाद मनपा ने इसे गंभीरता से लिया और अब ट्रैफिक पुलिस की मदद से इन भंगार वाहनों को उठाया जा रहा है।
२,३३२ मिली शिकायतें
मनपा अतिक्रमण विभाग की ओर से मिली जानकारी के अनुसार कुल २,३३२ भंगार वाहनों को नोटिस दी गई है। इनमें से १,४८९ वाहन मनपा ने आरटीओ के सहयोग से अब तक उठा लिए हैं। इन वाहनों के मालिकों को दोबारा नोटिस देकर १५ दिनों में वाहन छुड़ाने को कहा है, अन्यथा इन जब्त किए गए वाहनों को मनपा नीलाम करेगी।
सबसे अधिक कार्रवाई पी वार्ड में
मनपा को सबसे अधिक शिकायतें पी दक्षिण वार्ड में मिली हैं। यहां २६१ वाहनों को उठाने की नोटिस दी गई है। एल वार्ड में १६९, बी वार्ड में १६० तथा सी वार्ड में १५० वाहनों के मालिकों को नोटिस दी गई है। जी दक्षिण और एल पूर्व में एक भी शिकायत नहीं मिली है। लेकिन फिर भी इस वॉर्डों से बड़ी संख्या में भंगार वाहनों को उठाया गया है। सबसे तेज कार्रवाई एम पूर्व वॉर्ड में करते हुए १९१ वाहनों को उठाया गया है। एफ दक्षिण वॉर्ड में १७४, डी वार्ड में १४४, एल वॉर्ड में १६९ वाहनों को उठाया गया है। इन वॉर्डों में तेजी से भंगार वाहनों पर कार्रवाई हो रही है।
आप भी कर सकते हैं १९१६ पर शिकायत
मनपा अधिकारियों के अनुसार आम जनता यदि कहीं ऐसे भंगार वाहनों से त्रस्त है तो वाहन मनपा के टोल फ्री नंबर १९१६ पर शिकायत कर सकती है। इसके अतिरिक्त वाहन स्ब्ंस्म् ट्विटर हैंडल पर अपनी शिकायत कर सकती है। इसके अलावा स्थानीय वॉर्ड कार्यालय में भी विभाग बनाए गए हैं। वहां भी शिकायत दर्ज कराई जा सकती है। जनता की शिकायतों को तरजीह दी जा रही है। मनपा मुंबईकरों को बेहतर सड़क, सुरक्षा और संसाधन देने के लिए कटिबद्ध है।

ट्रैफिक की समस्या कम
सड़क किनारे भंगार वाहनों के खड़े होने से गंदगी के साथ ही ट्रैफिक जाम की समस्या होती है। लेकिन मनपा द्वारा किए जा रहे इस कार्रवाई से अब सड़कें साफ दिखाई दे रही हैं। इस कारण ट्रैफिक जाम की समस्या भी धीरे-धीरे कम हो रही है।
-जसपाल सिंह नेवल,
स्थानीय निवासी

१५ दिन की नोटिस
लोगों की शिकायतों के बाद सड़कों को भंगार वाहनों से मुक्त कराने के लिए अभियान शुरू किया गया है। हम वाहन मालिकों को १५ दिन की नोटिस दे रहे हैं। अगर वे वाहन छुड़ा ले गए तो ठीक है, अन्यथा इन सभी भंगार वाहनों को नीलाम कर दिया जाएगा। शुरुआत में इन वाहनों को वॉर्ड परिसर में जमा किया जा रहा है लेकिन बाद में इसे माहुल गांव में रखा जाएगा।
-चंदा जाधव, सहायक आयुक्त,
अतिक्रमण विरोधी विभाग

राहत की बात है
सड़कों से पुराने भंगार वाहन हटाए जाने से काफी राहत महसूस हो रही है। मनपा की इस कार्रवाई के डर से भी कई लोगों ने अपने भंगार वाहन हटा दिए हैं तो कई लोगों ने ऐसे वाहनों को बेच दिया है। इससे सड़कें साफ हो रही हैं। जाम कम हो रहा है और पार्किंग के लिए भी जगह मिल रही है। ऐसे में आम जनता को बड़ी राहत महसूस हो रही है।
-रीता कुमारी देवरा, शिक्षिका

अन्य समाचार