मुख्यपृष्ठनमस्ते सामनापाम बीच पर बढ़ेगी स्पीड!...नई मुंबईकरों को मिलेगा एक नया फ्लाइओवर

पाम बीच पर बढ़ेगी स्पीड!…नई मुंबईकरों को मिलेगा एक नया फ्लाइओवर

कुमार नागमणि।  नई मुंबई एक तेजी से बढ़ता हुआ शहर है। पिछले दो दशकों में इस शहर की आबादी काफी ज्यादा बढ़ चुकी है। लोगों का सड़क यातायात सुगम हो सके, इसके लिए यहां पर एक पाम बीच रोड का निर्माण किया गया था। शुरू में इस रोड का सफर काफी आरामदायक था, पर बढ़ते ट्रैफिक के कारण अब यहां पर वाहन चालकों को काफी परेशानी होने लगी है। पाम बीच रोड पर ट्रैफिक की गति काफी धीमी हो जाती है। अब इस रोड पर ट्रैफिक की स्पीड को बढ़ाने का पैâसला किया गया है। इसी कारण अब यहां ट्रैफिक को सुचारु रूप से चलाने के लिए प्रशासन ने सबसे ज्यादा जामवाले क्षेत्र में एक फ्लाइओवर बनाने का निर्णय लिया है ताकि जाम की परेशानी दूर हो सके।

सिडको ने बसाया है शहर
गौरतलब है कि नई मुंबई एक ऐसा शहर है, जिसे सिडको ने प्लानिंग करके बसाया है। यहां पर सरकार की तरफ से सभी सुविधाएं उपलब्ध हैं, जिसके कारण नई मुंबई में कई लोग अपना आशियाना बसाना चाहते हैं। इन दिनों इस क्षेत्र में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का काम चल रहा है, जो जल्द ही पूरा हो सकता है। इसके कारण भविष्य में ट्रैफिक न हो, इसे ध्यान में रखकर ट्रैफिक जाम को कम करने के लिए जल्द ही पाम बीच मार्ग पर एक फ्लाइओवर बनाया जानेवाला है। वाशी के अरेंजा कॉर्नर से कोपरी गांव तक इस फ्लाइओवर का निर्माण किया जानेवाला है। इसके लिए महानगरपालिका ने टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी है और जल्द ही ठेकेदार कंपनी की नियुक्ति कर दी जाएगी। सिडको ने शहर के बाहर से बिना किसी बाधा के वाशी पहुंचने के लिए इस पाम बीच रोड का निर्माण किया है। बाद में यह मार्ग मनपा को हस्तांतरित कर दिया गया।
शहर की शान है पाम बीच
पाम बीच रोड इस शहर की शान है। शुरुआती दौर में पाम बीच मार्ग वाहनों के आवागमन की कमी के कारण तेज यात्रा के लिए जाना जाता था। लेकिन धीरे-धीरे लोगों की संख्या बढ़ने के कारण वाहनों की संख्या भी बढ़ गई है, जिसके कारण पाम बीच मार्ग का सबसे अधिक उपयोग किया जा रहा है। मुंबई से उरण, पनवेल जानेवाले वाहन तेज गति के लिए पाम बीच मार्ग का उपयोग करते हैं। साथ ही उरण, पनवेल से आनेवाले वाहन अरेंजा कॉर्नर के रास्ते ठाणे और एमआईडीसी की तरफ जाते हैं।
बीच में हैं ४ प्रमुख सिग्नल
अरेंजा कॉर्नर से कोपरी गांव तक कुल चार प्रमुख सिग्नल हैं, जिसके कारण वाहनों को चार बार रुकना पड़ता है। इन दूरियों के बीच करीब १० हजार वाहन आते-जाते हैं। इसी तरह सड़क के दोनों तरफ पार्क किए गए वाहनों से भी जाम की स्थिति बन जाती है। इस ट्रैफिक जाम को कम करने के लिए पाम बीच मार्ग पर अरेंजा कॉर्नर से कोपारी गांव तक ढाई किलोमीटर लंबा फ्लाइओवर बनाया जानेवाला है। इस फ्लाइओवर के लिए ३४० करोड़ रुपए खर्च होने की उम्मीद है।

सफर आरामदायक होगा
पामबीच मार्ग आवागमन के लिए बहुत ही बढ़िया मार्ग है, लेकिन कोपरी के पास ट्रैफिक के कारण अक्सर समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इस ब्रिज के निर्माण से इस मार्ग से सफर आरामदायक हो जाएगा।
-दीपक दुबे, स्थानीय निवासी

ट्रैफिक से होती है परेशानी
कोपरी से अरेंजा कॉर्नर तक सुबह और शाम के समय काफी ट्रैफिक होता है। इससे काफी परेशानी होती है। ऐसे में इस ब्रिज का निर्माण होने से ट्रैफिक की समस्या से मुक्ति मिलेगी।
-उज्ज्वला  सालवी, नई मुंबई

सिग्नल पर रहता है जाम
पामबीच मार्ग से कोपरी गांव जुड़ा हुआ है। ऐसे में पामबीच के पास सिग्नल पर वाहनों का आवागमन अधिक होता है, जिसके कारण ट्रैफिक जाम की समस्या बनी रहती है। लेकिन अब इस ब्रिज के निर्माण से ट्रैफिक मुक्त होगा।
-राजन विचारे, सांसद

अन्य समाचार