" /> उत्तर मुंबई को तोहफे में सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल!

उत्तर मुंबई को तोहफे में सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल!

♦ १० मंजिला होगी इमारत
♦ कार्डियोलॉजी, न्यूरोलॉजी, सीटी  स्कैन आदि आधुनिक सुविधाओं से होगा लैस
♦ टेंडर प्रक्रिया लगभग पूरी
♦ ३२५ बेड की होगी व्यवस्था
उत्तर मुंबई में रहनेवालों का सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल का सपना मुंबई मनपा जल्द ही पूरा करेगी। इस क्षेत्र में किसी भी प्रकार की बड़ी दुर्घटना होने पर मरीजों को बेहतर उपचार सुविधा के लिए सीधे शहर के बड़े अस्पतालों में स्थानांतरित किया जाता है। मरीजों की स्थिति के अनुसार पहले उन्हें विलेपार्ले के कूपर या अधिक सीरियस मरीजों को सायन, केईएम अथवा नायर अस्पताल भेजा जाता है। ऐसे में वहां के मरीजों को यहां ट्रांसफर होने पर उनके अभिभावकों को भी काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है लेकिन अब उन्हें इस मुसीबत से छुटकारा मिल जाएगा। उनकी हर दिक्कत दूर होनेवाली है। कांदिवली स्थित शताब्दि अस्पताल के प्रांगण में महानगरपालिका  सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल का काम शुरू करनेवाली है। १० मंजिला बननेवाले इस सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल की निविदा का काम शुरू है। कंपनी के चयन के साथ ही यहां आधुनिक अस्पताल निर्माण का काम शुरू हो जाएगा। इस सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में कार्डियोलॉजी, न्यूरोलॉजी, सीटी स्वैâन जैसी कई अत्याधुनिक सुविधाएं होंगी। यहां ३२५ नए बेड की सुविधावाले इस सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल के लिए विशाल भवन बनाया जाएगा।
३०१ करोड़ रुपए की परियोजना
मनपा इस सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल को आधुनिक मशीनों से लैस रखेगी, इसके लिए इस अस्पताल के निर्माण में खर्च भी खूब होगा। मनपा के अनुसार इसके लिए ३०१ करोड़ रुपए खर्च होगा।
जनवरी में ही पास हुआ था प्रस्ताव
मुंबई मनपा के इस महत्वाकांक्षी अस्पताल का प्रस्ताव जनवरी में ही पास हो गया था। राज्य सरकार के पर्यावरण सहित अन्य विभागों से स्वीकृति मिलने के बाद मनपा ने यह टेंडर जारी किया है। महानगर में वैसे तो कई अस्पताल हैं लेकिन जोगेश्वरी के आगे उत्तर मुंबई में शताब्दी को छोड़कर कोई बड़ा अस्पताल नहीं है, इसके बनने के बाद स्थानीय लोगों को खूब लाभ होगा।
शताब्दी अस्पताल ही सहारा
कांदिवली-पश्चिम स्थित मनपा के डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर शताब्दी अस्पताल में पश्चिमी उपनगरों से रोजाना हजारों लोग इलाज के लिए आते हैं। शताब्दी अस्पताल में फिलहाल ४४५ बेड की क्षमता है। कोरोना काल में भी इस अस्पताल ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, अब सामान्य जनता के इलाज के साथ वैक्सीनेशन के लिए भी यह अस्पताल तेजी से काम कर रहा है।

लोगों को मिले अच्छी सुविधाएं
हमारा प्रयास है कि लोगों को ज्यादा से ज्यादा स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध हों। इस प्रयास के तहत पश्चिमी उपनगर के अंतिम छोर पर लोगों को इलाज के लिए सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल मिलेगा। इसमें बहुत-सी सुविधाएं होंगी। बड़ी बीमारियों के इलाज के लिए लोगों को शहर की तरफ आने की शायद जरूरत न पड़े। फिलहाल इसके टेंडर की प्रक्रिया चल रही है।
-सुरेश काकाणी,
अतिरिक्त मनपा आयुक्त

नजदीक में इलाज मिलेगा
इस अस्पताल के बनने से पश्चिमी उपनगर में जोगेश्वरी से आगे रहनेवालों को बड़ी राहत मिलेगी। साथ ही कूपर अस्पताल पर बड़ी संख्या में मरीजों के इलाज का दबाव भी कम हो जाएगा। वहां के डॉक्टरों को भी राहत मिलेगी और लोगों को दूर नहीं जाना होगा। बड़ी बीमारियों का इलाज यहीं संभव होगा।
-भारती बेंडे, समाजसेविका
घायलों को तुरंत इलाज मिलेगा
अब तक यहां आस-पास कोई आधुनिक संसाधन से लैस अस्पताल नहीं है। इस तरफ महामार्ग पर दुर्घटनाएं होती हैं तो इमरजेंसी में घायलों को दूर ले जाना पड़ता है, इससे उनकी जान पर बन आती है। दुर्घटना में गोल्डन ऑवर बहुत महत्वपूर्ण होता है। समय रहते अगर सही इलाज मिल जाए तो उसे बचाना आसान होता है। इस अस्पताल के बनने से यहां के लोगों को लाभ होगा।
-सलीम खान, जागरूक नागरिक