मुख्यपृष्ठटॉप समाचारभाजपा राज में बेटियों को बचाओ!... यूपी के सरकारी स्कूल में डर्टी...

भाजपा राज में बेटियों को बचाओ!… यूपी के सरकारी स्कूल में डर्टी गेम!

-हेडमास्टर ने किया १६ छात्राओं का यौन शोषण

-हरियाणा में भी हुई थी १४२ छात्राओं के साथ गंदी बात

सामना संवाददाता / नई दिल्ली

चाल, चरित्र और चेहरा की बात करनेवाली भाजपा राज में छात्राओं के साथ बुरा सलूक हो रहा है। भाजपा शासित राज्यों में स्कूली छात्राओं के साथ ‘डर्टी गेम’ होने का खुलासा हुआ है। पिछले सप्ताह हरियाणा से ऐसी खौफनाक खबर आई थी और अब ताजा मामला यूपी से सामने आया है। उन्नाव के सिकंदरपुर सरोसी इलाके के एक स्कूल में खुद हेडमास्टर ने एक दो नहीं, बल्कि १६ छात्राओं का यौन शोषण किया है। इसी तरह हरियाणा में एक प्रिंसिपल ने तो हद ही कर दी थी। वहां १४२ छात्राओं के साथ उसने गंदी बात कर डाली थी।
मिली जानकारी के अनुसार, कानपुर की १६ लड़कियां इस हेडमास्टर की गलत हरकतों को झेल रही थीं। ये लड़कियां बेहद छोटी उम्र की हैं, लेकिन इस बात से इस हेडमास्टर को कोई फर्क नहीं पड़ा। छोटी-छोटी लड़कियों का वह यौन शोषण करता रहा। तंग आकर छात्राओं ने आखिरकार अपने परिजनों को बताया और फिर उन्होंने राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के पोर्टल पर अपनी शिकायतें दर्ज करवाई ।
अपनी शिकायतों में १६ छात्राओं ने लिखा कि कैसे स्कूल में उनका हेडमास्टर अलग तरह से उन्हें छूने की कोशिश करता है। बंद कमरे में उनका यौन शोषण किया जाता है। इस शिकायत के बाद जांच शुरू हुई। राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग की एक सदस्य प्रीति भारद्वाज स्कूल में पहुंचीं। छात्राओं के अलग-अलग बयान लिए गए। इन बच्चियों ने अपना दर्द खुलकर बयां किया। कैसे ये पढ़ाई के नाम पर यौन शोषण झेलने के लिए मजबूर थीं, कैसे हेडमास्टर को देखकर ये कांपने लगती थीं। इन्हें पता था कि इसकी गंदी नीयत उन्हें छोड़ेगी नहीं। घटना के बाद से ये हेडमास्टर फरार हो गया था। इस हेडमास्टर के खिलाफ स्कूल में खाना बनाने वाली महिला ने भी शिकायत दर्ज करवाई है। पुलिस ने हेडमास्टर की तलाश की और गत सोमवार को उसे पोक्सो के तहत गिरफ्तार कर लिया। मामले में आगे की जांच जारी है, हेडमास्टर को निलंबित कर दिया गया है।

अन्य समाचार

कुदरत

घरौंदा