मुख्यपृष्ठनए समाचारईडी सरकार में घोटाले ही घोटाले ... अब वन विभाग में हुआ...

ईडी सरकार में घोटाले ही घोटाले … अब वन विभाग में हुआ गार्ड भर्ती घोटाले का खुलासा!

अभ्यर्थियों से लिए गए १०-१० लाख रुपए
सामना संवाददाता / मुंबई
कुछ दिन पहले मुंबई में पुलिस भर्ती और उससे पहले स्वास्थ्य भर्ती में घोटाले के आरोप लगे थे। उसके बाद राजस्व, शिक्षा विभाग में ट्रांसफर के लिए मोटी रकम लिए जाने की बात सामने आई थी। अब वन विभाग में गार्ड भर्ती में घोटाला होने का खुलासा हुआ है। इस भर्ती में अभ्यर्थियों से १०-१० लाख रुपए लिए जाने की बात सामने आई है। इस भर्ती में एक ऐसे रैकेट का भंडाफोड़ हुआ है, जिसमें वनरक्षक की नौकरी दिलाने के लिए चार परीक्षार्थियों से १०-१० लाख रुपए लिए गए थे। इस मामले में चार लोगों के खिलाफ संभाजीनगर के एमआईडीसी सिडको पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया है। इससे पहले अभ्यर्थी को फोन पर जवाब देने के रैकेट का भंडाफोड़ हुआ था। साथ ही तीन तरह के हाईटेक नकल का भी खुलासा हुआ। यह भी पता चला है कि उन्होंने उम्मीदवारों के सभी मूल दस्तावेज अपने पास ले लिए और उनसे १०-१० लाख रुपए के हस्ताक्षरित खाली चेक ले लिए थे। पुलिस ने तीनों को हिरासत में ले लिया है। आगे मामले की जांच जारी है। वन विभाग में रिश्वत लिए जाने की शिकायत पिछले दिनों सत्तारूढ़ दल के विधायकों ने भी वन मंत्री सुधीर मुनगंटीवार से की थी।
बता दें कि शिंदे सरकार में पैसे दिए बिना ट्रांसफर और पदोन्नति नहीं होती है। क्रीम पोस्टिंग के लिए लाखों रुपए देना पड़ता है। राजस्व और शिक्षण विभाग में ऐसी घटनाएं सामने आई थीं। प्रतिपक्ष के नेता विजय वडेट्टीवार ने इस संदर्भ में अधिवेशन के दौरान सदन में सबूत पेश किया था। समाज कल्याण विभाग में लाखों रुपए दिए बिना ट्रांसफर नहीं होता है, ऐसा गंभीर आरोप समाज कल्याण विभाग की एक उपायुक्त ने मुख्यमंत्री कार्यालय पर किया है। इस संदर्भ में ऑडियो क्लिप वडेट्टीवार ने विधानसभा अध्यक्ष राहुल नार्वेकर को सौंपी थी।

अन्य समाचार