मुख्यपृष्ठसमाचारकाउंटर  स्कैनिंग से हो रही उत्तर पुस्तिकाओं की जांच!

काउंटर  स्कैनिंग से हो रही उत्तर पुस्तिकाओं की जांच!

७० फीसदी जांच पूरी • जल्द घोषित १०वीं और १२वीं का रिजल्ट
सामना संवाददाता / मुंबई । उत्तर पुस्तिकाओं की जांच का कामकाज यदि बोर्ड की योजना के अनुसार होता है तो १२वीं के परीक्षा परिणाम १० जून और १०वीं के नतीजे २० जून तक घोषित किए जा सकेंगे। यह संभावना राज्य माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष शरद गोसावी ने जताई है। उन्होंने कहा है कि वर्तमान में सभी विभागीय शिक्षा मंडलों में उत्तर पुस्तिकाओं की जांच रफ्तार से शुरू है। करीब ७० फीसदी उत्तर पुस्तिकाओं की काउंटर स्वैâनिंग पूरी कर ली गई है।
राज्य में गैर अनुदानित शिक्षकों ने अपनी विभिन्न मांगों को पूरा कराने के लिए १०वीं-१२वीं के पेपर को जांचने से इनकार कर दिया था। इतना ही नहीं, उन्होंने उत्तर पुस्तिकाओं के बंडलों को बिना जांचे वापस बोर्ड के पास भेज दिया था। ऐसे में बोर्ड के सामने यह संकट खड़ा हो गया था कि समय पर वैâसे परीक्षा परिणाम घोषित होंगे? हालांकि स्टेट शिक्षा बोर्ड की सटीक योजना के कारण उत्तर पुस्तिकाओं की जांच तेजी से और बिना किसी बाधा के चल रही है। वर्तमान स्थिति यह है कि स्टेट शिक्षा बोर्ड के पास जांची गई उत्तर पुस्तिकाओं की संख्या बढ़ी है। गोसावी के अनुसार अब इन उत्तर पुस्तिकाओं के प्रथम पृष्ठ के बारकोड के अनुसार काउंटर स्वैâन कर कुल अंक एकत्र किए जा रहे हैं। यह प्रक्रिया पूरी होने के बाद परीक्षा परिणाम तैयार किए जाएंगे।
मुंबई विभाग में जांच की स्थिति
मुंबई विभागीय शिक्षण मंडल में १२वीं कक्षा के कुल १८,९२,९२९ उत्तर पुस्तिकाओं की जांच की जा रही है। जांच के लिए १,६५१ मॉडरेट्स हैं। इनमें से १,१५७ मॉडरेट्स द्वारा जांची गई कॉपी को बोर्ड में जमा करवा दिया गया है। इसी तरह १०वीं की कुल ३३,२०,२०७ उत्तर पुस्तिकाएं हैं। इनकी जांच के लिए २,६०५ मॉडरेट्स हैं। करीब २०६७ मॉडरेट्स ने अपनी जांची गई कॉपी को बोर्ड के हवाले कर दिया है। मॉडरेट्स शेष बची उत्तर पुस्तिकाओं की जांच कुछ दिनों में पूरा कर लेंगे। यह जानकारी मुंबई विभागीय शिक्षण मंडल के सचिव डॉ. एस.आर. बोरसे ने दी है।

अन्य समाचार