मुख्यपृष्ठसमाचारनेपाल की सीमा पर सुरक्षा एजेंसियां चौकन्नी! ...पगडंडियों पर भी बढ़ी गश्त

नेपाल की सीमा पर सुरक्षा एजेंसियां चौकन्नी! …पगडंडियों पर भी बढ़ी गश्त

•गोरखनाथ मंदिर में हमले के बाद हो रही आतंकी संगठनों की गतिविधियों की मॉनिटरिंग

विक्रम सिंह / गोरखपुर। गोरखनाथ मंदिर में पीएसी जवानों पर हमले की दुस्साहसिक वारदात ने सुरक्षा एजेंसियों व खुफिया विभागों की पोल खोलकर रख दी है। आतंकी संगठनों की सक्रियता को अब सुरक्षा एजेंसियों ने नए सिरे से मॉनिटर करना शुरू कर दिया है। सबसे संवेदनशील मानी जाने वाला पड़ोसी देश नेपाल की सीमा पर भी फिलहाल कड़ी चौकसी है।

नेपाल की ओर से आनेवालों की डॉग स्क्वॉयड, मेटल डिटेक्टर व मिरर डिटेक्टर की मदद से कड़ी जांच की जा रही है। संदिग्ध प्रतीत होने पर नाम-पता व फोटो रजिस्टर में दर्ज करने के साथ आईडी प्रूफ की कड़ी जांच की जा रही है। इसके साथ ही सोनौली पुलिस व एसएसबी पगडंडी रास्तों पर भी संयुक्त रूप से गश्त कर रही है।

हमले के आरोपी मुर्तजा अब्बासी के मुंबई और नेपाल आने-जाने को लेकर सुरक्षा एजेंसियां चौकसी बरत रही हैं। सीमा पर लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगाला जा रहा है, ताकि पता चल सके कि हमले का आरोपी कितनी बार सीमा से होकर आया-गया है। आने-जाने के समय उसके साथ कोई था या नहीं? इस मामले में नेपाल पुलिस से भी मदद ली जा रही है।

सुरक्षा एजेंसियां संयुक्त रूप से जहां ‘नो मेंस लैंड’ के करीब गश्त कर रही हैं, वहीं सरहद के सभी पगडंडी मार्गों पर कड़ा पहरा लगा दिया गया है। खुफिया विभाग के अनुसार नेपाल के रास्ते हिंदुस्थान में कई संगठन घुसपैठ की फिराक में हैं। लश्कर-ए-तैयबा, इंडियन मुजाहिदीन व सिमी आदि संगठनों को लेकर सुरक्षा एजेंसियां चौकन्नी हैं।

सुरक्षा एजेंसियों व खुफिया विभाग की नजर सरहद पर हो रही हर गतिविधि पर है। उसकी रिपोर्ट गृह मंत्रालय को भेजी जा रही है। नेपाल से आने-जाने वालों की गहन तलाशी लेने के बाद ही आने-जाने दिया जा रहा है। सिद्धार्थनगर शोहरतगढ़ क्षेत्र के कोटिया बॉर्डर पर पुलिस एवं एसएसबी के जवानों की ओर से निगरानी बढ़ाते हुए पैट्रोलिंग की गई। हिंदुस्थान-नेपाल के खुनवा बॉर्डर पर भी चौकसी है। सुरक्षा एजेंसियों के जवानों ने संयुक्त पेट्रोलिंग में राष्ट्र विरोधी तत्वों, तस्करों पर नकेल कसने का संदेश दिया।

सीओ नौतनवा कोमल प्रसाद मिश्रा के अनुसार, सरहद पर अलर्ट है। एसएसबी और नेपाल सशस्त्र पुलिस के साथ सीमा व पगडंडी रास्तों पर गश्त कर कड़ाई से जांच की जा रही है। सीमा पर संदेह होने पर आईडी प्रूफ की जांच के साथ नाम, पते व फोटो दर्ज किए जा रहे हैं। पूरी एहतियात के बाद ही भारत में एंट्री दी जा रही है।

अन्य समाचार