मुख्यपृष्ठस्तंभसेहत का तड़का : जमकर जिम, थमकर भोजन! अर्जुन कपूर की...

सेहत का तड़का : जमकर जिम, थमकर भोजन! अर्जुन कपूर की सुबह-शाम, कसरत के नाम

एस.पी.यादव

कभी १४० किलोग्राम की थुलथुली काया के साथ लोगों के बीच उपहास का दंश झेलनेवाले और २२ साल की उम्र में दमा की चपेट में आकर सांसों की जंग लड़नेवाले अर्जुन कपूर का शुमार आज बॉलीवुड के चुस्त-दुरुस्त अभिनेताओं में होता है। अर्जुन कपूर का जन्म २६ जून, १९८५ को मुंबई में हुआ। अर्जुन कपूर अपनी फिटनेस का श्रेय जमकर जिम करने और थमकर भोजन करने को देते हैं।
अर्जुन कपूर का लगभग पूरा परिवार बॉलीवुड में सक्रिय है। ऐसे में फिल्मों के प्रति उनका रुझान स्वाभाविक है। आर्य विद्या मंदिर से ११वीं तक पढ़े अर्जुन कपूर ने २००३ में निखिल आडवाणी के साथ फिल्म ‘कल हो न हो’ के लिए बतौर सहायक निर्देशक काम किया। २०१२ में फिल्म ‘इश्कजादे’ से उन्होंने बॉलीवुड में बतौर अभिनेता अपनी पारी शुरू की। कभी अर्जुन कपूर १४० किलो के हुआ करते थे लेकिन सलमान खान के प्रोत्साहन ने असर दिखाया और दो साल में उन्होंने ५३ किलो वजन घटाकर सभी चौंका दिया। फैट  से फिट बने अर्जुन कपूर अब जमकर व्यायाम और थमकर भोजन करने में यकीन करते हैं। वे दिन में पांच बार छोटी-छोटी खुराकों में भोजन करते हैं।
सुबह-शाम कसरत के नाम
अर्जुन कपूर दिन में दो बार जिम जाते हैं। सुबह करीब १०.३० बजे वे लगभग डेढ़ घंटे तक जमकर जिम करते हैं, जिसमें स्किपिंग (रस्सीकूद), वेट लिफ्टिंग, पुशअप्स, प्लांक्स, ट्रेडमिल रनिंग आदि शामिल होता है। इसी तरह शाम को ६ से ८ दो घंटे तक जिम करते हैं। वे शाम को हल्की-फुल्की एक्सरसाइज करते हैं, जिसमें ट्रेडमिल वॉक, लेग प्रेस, कार्डियो, क्रॉसफिट एक्सरसाइज आदि शामिल होते हैं।
खान-पान में कैलोरी का ध्यान
अर्जुन कपूर अपने खान-पान में कैलोरी  का बहुत खयाल रखते हैं। सुबह १० बजे नाश्ते में अंडे और मशरूम की भुर्जी तथा ब्रेड खाते हैं, जिसमें २९० कैलोरी एनर्जी, २२ ग्राम प्रोटीन, १२ ग्राम फैट , २५ ग्राम कार्बोहाइड्रेट्स और ४.५ ग्राम फाइबर होता है। अर्जुन कपूर के दोपहर के भोजन में गेहूं-बाजरे की रोटी, सब्जी और दाल के साथ ग्रीक सौव्लाकि रैप शामिल होता है। चिकन के इस विशेष व्यंजन से उन्हें ३८८ कैलोरी ऊर्जा, ४३ ग्राम प्रोटीन, १५ ग्राम फैट, ३४ ग्राम कार्बोहाइड्रेट्स और १२ ग्राम फाइबर मिलता है।
शाम को ताजे फल और सुशी
अर्जुन कपूर शाम को नाश्ते में अनानास, स्ट्राबेरी या अन्य ताजे फलों के साथ तुर्की सुशी लेते हैं, जिससे उन्हें १९ कैलोरी  ऊर्जा, ३९ ग्राम प्रोटीन, १० ग्राम फैट, ११ ग्राम कार्बोहाइड्रेट्स और ७ ग्राम फाइबर मिलता है। रात के भोजन में मुहम्मरा सॉस और पुदीने की चटनी के साथ तुर्की कबाब, मसालेदार सब्जियां लेते हैं, जिससे उन्हें ३८८ कैलोरी  ऊर्जा, २२ ग्राम प्रोटीन, १० ग्राम फैट , ३ ग्राम कार्बोहाइड्रेट्स और ७ ग्राम फाइबर मिलता है।
खाने-पीने के शौकीन
अर्जुन कपूर खाने-पीने के शौकीन हैं। उन्हें सी-फूड  की बजाय चिकन ज्यादा पसंद है। उन्हें काली दाल, राजमा, प्याजवाले चावल, जंगली मटन, लाल मास विशेष पसंद है। उन्हें करेला पसंद नहीं है। उन्हें महाराष्ट्र, राजस्थान और पंजाब के पारंपरिक व्यंजनों से विशेष लगाव है। कभी-कभार चाइनीज खा लेते हैं।
काली दाल की रेसिपी
सामग्री:
चार-पांच घंटे पानी में भिगोकर रखी गई एक कप उड़द की दाल, दो बारीक कटे प्याज, दो बारीक कटे टमाटर, दो चम्मच अदरक-लहसुन का पेस्ट, बीच से लंबी कटी दो हरी मिर्च, तेजपत्ता, एक चम्मच साबुत जीरा, आधा चम्मच हल्दी पाउडर, आधा चम्मच लाल मिर्च पाउडर, आधा चम्मच धनिया पाउडर, आधा चम्मच गरम मसाला, एक चम्मच कसूरी मेथी, तीन चम्मच घी, दो चम्मच बारीक कटी हरी धनिया, चार कप पानी और स्वादानुसार नमक।
विधि:
भिगोकर रखी गई दाल को तीन कप पानी, एक चम्मच घी और नमक डालकर कुकर में पांच-छह सीटी तक पकाएं। इस बीच एक पैन में एक चम्मच घी में जीरा, तेज पत्ता, कसूरी मेथी, अदरक-लहसुन सारे मसाला पाउडर मिलाकर तड़का तैयार कर लें। अब इसमें टमाटर डालकर भूनें। अब पकी हुई दाल में इसका तड़का दें। अब इस दाल में एक कप पानी डालकर और १० मिनट तक पकाएं। इसमें घी डालकर और धनिया-पत्ते से गार्निश कर परोसें।
फायदे:
काली दाल की तासीर ठंडी होती है और यह कई बीमारियों में वरदान की तरह काम करती है। यह सिरदर्द को ठीक करने, नकसीर को ठीक करने, लिवर का सूजन कम करने, लकवा ठीक करने, जोड़ों में दर्द, अल्‍सर, बुखार, सूजन आदि को ठीक करने में कारगर है। इससे पर्याप्त प्रोटीन मिलता है और हाजमा भी दुरुस्त रहता है।

अन्य समाचार