मुख्यपृष्ठस्तंभसेहत का तड़का  : मॉर्निंग मैजिक... भोर में योग और कसरत है...

सेहत का तड़का  : मॉर्निंग मैजिक… भोर में योग और कसरत है पूजा कुमार की सेहत का राज

एस.पी. यादव
भारतीय मूल की अमेरिकी अभिनेत्री पूजा कुमार भट्ट (जोशी) ने हॉलीवुड की अंग्रेजी फिल्मों के साथ-साथ तमिल, तेलुगू और हिंदी फिल्मों में अपनी खास पहचान बनाई हैं। पूजा कुमार का जन्म ४ फरवरी १९७७ को अमेरिका के सेंट लुइस प्रांत के मिसौरी शहर में हुआ। उनके माता-पिता रविंदर और निरुपमा भट्ट १९७० में भारत से अमेरिका जा बसे। फिलहाल, पूजा कुमार का अधिकांश समय भारत में बीत रहा है। सोशल मीडिया पर अपनी बॉडी और ब्यूटी टिप्स के लिए वह काफी लोकप्रिय हैं।

पूजा कुमार ने वाशिंगटन विश्वविद्यालय से राजनीति विज्ञान और वित्त में स्नातक की उपाधि प्राप्त की। उन्होंने बिरजू महाराज से भारतीय शास्त्रीय नृत्य (भरतनाट्यम, कुचिपुड़ी और कथक) का भी विधिवत प्रशिक्षण लिया है। वर्ष १९९५ में मिस इंडिया यूएस का खिताब पाने के बाद उन्हें फिल्मों के प्रस्ताव मिलने लगे। १९९७ में उन्होंने तमिल फिल्म ‘कधल रोजवे’ से अपनी अभिनय यात्रा शुरू की। २००८ में जी टीवी के शो ‘जागो और जीतो’ की मेजबानी की। ‘फ्लेवर्स’, ‘मैन ऑन ए लेज’, ‘बॉलीवुड बीट्स’, ‘एनीथिंग फॉर यू’ जैसी हॉलीवुड की दर्जनों फिल्मों के अलावा उन्होंने हिंदी फिल्म-‘अंजाना अंजानी’, ‘विश्वरूपम’, ‘विश्वरूपम-२’ में काम किया। उन्होंने दर्जनों तमिल फिल्मों में मुख्य अभिनेत्री का किरदार निभाया है। विशाल जोशी से शादी करने के बाद और २०२० में एक बेटी की मां बनने के उपरांत उन्होंने फिल्मों में अपनी सक्रियता सीमित कर दी है। अब वे सोशल मीडिया पर हेल्थ और ट्रैवेल टिप्स देकर लोकप्रियता बटोर रही हैं।
सही आहार-विहार का चमत्कार
पूजा कुमार ‘ईआरईआर’ के दर्शन में यानी ईट राइट (सही भोजन) एक्सरसाइज राइट (सही व्यायाम) में यकीन करती हैं। उनका मानना है कि स्वस्थ रहने के लिए सुबह जल्दी उठना जरूरी है। भोर में वातावरण में ओजोन के साथ-साथ ताजगी रहती है। सुबह की गई एक्सरसाइज व्यक्ति को दिन भर तरोताजा रखती है। पूजा कुमार प्रतिदन सुबह ट्रेडमिल स्प्रिंट, स्पिन जैसी कार्डियो एक्सरसाइज के साथ-साथ पिलाटे, किक बॉक्सिंग भी करती हैं। आराम और ताजगी के लिए योग अभ्यास करती हैं। वह सप्ताह में पांच दिन योग-अभ्यास करती हैं। सप्ताह में कम से कम एक दिन घंटे भर नृत्य-अभ्यास करती हैं।
गर्म पानी से दिन की शुरुआत
पूजा कुमार को सुबह तीन-चार गिलास गर्म पानी पीने की आदत है, इसके बाद वो उबले अंडे और फल खाती हैं। नाश्ते में अनाज और दलिया लेती हैं। दोपहर के भोजन के लिए वो ग्रिल्ड सब्जियां, फलियां, हरा सलाद और एक कटोरी दही लेना पसंद करती हैं। डिनर में पूजा कुमार चावल नहीं खातीं और इसकी जगह दाल-रोटी-सब्जी लेती हैं। उन्हें बीच-बीच में चुकंदर और अदरक का जूस, नारियल पानी पीना पसंद है। वो चीनी के बजाय गुड़ और नियमित चावल के बजाय ब्राउन राइस का इस्तेमाल करती हैं।
भारतीय व्यंजनों से लगाव
पूजा के पिता देहरादून से और मां लखनऊ से हैं। ऐसे में बचपन से ही उन्हें अमेरिका में भारतीय भोजन का स्वाद मिला। पूजा को पालक की सब्जी, मखाना ग्रेवी, चिकन करी के अलावा दक्षिण भारतीय डोसा और उत्तपम पसंद है। उन्हें चाइनीज फूड भी खूब पसंद है।

पूजा कुमार की पसंदीदा मखाना ग्रेवी की रेसिपी
सामग्री: पाव किलो मखाना, दो चम्मच मख्खन, दो चम्मच घी, दो टमाटर, तीन-चार हरी मिर्च, एक टुकड़ा अदरक, दो लाल मिर्च, थोड़ी-सी लौंग और इलायची, एक चम्मच पिसा जीरा, दो बारीक कटे प्याज, एक चुटकी हींग, एक चम्मच सौंफ और स्वादानुसार नमक।
विधि: मखाना को पानी का छींटा देकर बारीक पीस लें। उसे घी में भून लें। टमाटर, हरी मिर्च, अदरक को धोकर बारीक काट लें। अब लौंग, इलायची, प्याज और नमक डालकर चटनी बना लें। इसे गर्म करने के बाद छान लें। अब एक पैन में मखाने और इस चटनी को मिलाकर खदका लें। इसमें मक्खन मिलाएं। इसमें जीरा, हींग और सौंफ डालकर कुछ देर तक पकाएं।
फायदे: इसकी एक खुराक से लगभग ३०० कैलोरी मिलती है। इसमें मौजूद प्रोटीन और कार्बोहायड्रेट मांसपेशियों को मजबूत बनाता है। इसमें सीमित सोडियम और सैचुरेटेड फैट और पर्याप्त फाइबर होने के कारण यह हाई कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करता है। पाचनतंत्र को स्वस्थ रखता है। मानसिक तनाव कम करता है। जिंक की पर्याप्त मौजूदगी के कारण यह यौन शक्ति बढ़ाता है।

अन्य समाचार