मुख्यपृष्ठनए समाचारएएनसी का बड़ा प्रहार, ध्वस्त हुआ नशे का कारोबार!

एएनसी का बड़ा प्रहार, ध्वस्त हुआ नशे का कारोबार!

• जप्त किया पौने पांच करोड़ का एमडी ड्रग्स
• तीन सौदागर हुए गिरफ्तार
जितेंद्र मल्लाह / मुंबई । माल कमाने के लिए नशीले जहर के सौदागर देश की युवा पीढ़ी को मादक पदार्थों के नशे का गुलाम बनाने की हरसंभव कोशिश कर रहे हैं लेकिन मुंबई पुलिस और उसकी एंटी नार्कोटिक्स सेल (एनसीबी) मादक पदार्थों के तस्करों को उनके मंसूबों में कामयाब नहीं होने दे रही है। एनसीबी लगातार ड्रग्स तस्करों की कमर तोड़ रही है। कल एनसीबी ने एक बार फिर नशीले जहर के सौदागरों पर जोरदार प्रहार किया। एएनसी वर्ली यूनिट की टीम ने एक ड्रग्स डीलर एवं एक पैडलर को गिरफ्तार करके उसके पास से ४ करोड़ ५१ लाख ५० हजार रुपए का एमडी ड्रग्स बरामद किया तो वहीं बांद्रा यूनिट की टीम ने २२ लाख ५० हजार का एमडी जप्त किया।
पैडलर ने दिया डीलर का सुराग
बता दें कि एएनसी वर्ली यूनिट के अधिकारियों को मादक पदार्थों के कारोबार से जुड़े बड़े पैडलर के आने की सूचना मिली थी। डीसीपी दत्ता नलावडे के मार्गदर्शन व वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक संदीप काले के नेतृत्व में वर्ली यूनिट की टीम ने उक्त पैडलर की तलाश घाटकोपर-पूर्व के माता रमाबाई आंबेडकर उद्यान से मानखुर्द लिंक रोड, शिवाजी नगर, गोवंडी आदि इलाकों में जाल बिछाया और वांछित पैडलर को ३७ लाख ५० हजार रुपए के २५० ग्राम एमडी के साथ दबोच लिया, जो कि जोगेश्वरी का निवासी है। उक्त पैडलर से पूछताछ में एएनसी को गोवंडी निवासी बड़े ड्रग डीलर का सुराग मिल गया। उक्त ३२ वर्षीय ड्रग डीलर के घर की तलाशी में २,७६० ग्राम एमडी ड्रग्स बरामद हुआ, जिसकी कीमत ४ करोड़ १४ लाख रुपए आंकी गई है। संदीप काले ने बताया कि दोनों आरोपी शातिर अपराधी हैं। दोनों पिछले करीब तीन वर्षों से मादक पदार्थों के धंधे से जुड़े हैं। गोवंडी निवासी ड्रग डीलर के खिलाफ आईपीसी की धारा ३९४ और १७० के तहत पहले से ही मामले दर्ज हैं।
बांद्रा यूनिट को भी मिली सफलता
इसी तरह की एक अन्य कार्रवाई में एएनसी बांद्रा यूनिट की टीम ने वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक संजय चव्हाण के नेतृत्व में बेहराम पाड़ा, बांद्रा कोर्ट, खेरनगर आदि इलाकों में गश्त के दौरान खेरवाड़ी उदंचन केंद्र के पास से एक संदिग्ध को हिरासत में लिया। पूछताछ में उसके पास से २२ लाख ५० हजार रुपए का १५० ग्राम एमडी ड्रग्स बरामद हुआ। आरोपी को पायधुनी, नागपाड़ा, वसई पुलिस एवं क्राइम ब्रांच यूनिट-४ की टीम पहले भी गिरफ्तार कर चुकी है।

अन्य समाचार