मुख्यपृष्ठनए समाचारसमंदर में सनसनी! अलीबाग तट पर मिले टेरर के संकेत; बोट में...

समंदर में सनसनी! अलीबाग तट पर मिले टेरर के संकेत; बोट में मिली ३ एके-४७ राइफल

  • २६/११ को पाकिस्तानी आतंकी समुद्री रास्ते ही घुसे थे महाराष्ट्र के ७२० किमी लंबे समुद्री तट पर अलर्ट जारी

सामना संवाददाता / मुंबई
मुंबई के समीप अलीबाग के पास उस वक्त सनसनी फैल गई जब समंदर में तैरते एक बोट में ३ एके-४७ राइफलें मिलीं। एके-४७ मिलने की खबर मिलते ही पुलिस वहां पहुंच गई। चूंकि अतीत में रायगड के तट पर ही हथियारों की सप्लाई हो चुकी है इसलिए इस बार भी घातक हथियार मिलने से इसे टेरर का संकेत समझा गया।
मिली जानकारी के अनुसार दो संदिग्ध बोट से एके-४७ रायफल और विस्फोटक बरामद हुए हैं। इन नावों पर एके-४७ के साथ ही जिलेटिन की छड़ें व राइफल के कारतूस भी रखे मिले हैं। पुलिस ने इलाके में हाईअलर्ट घोषित किया है, साथ ही सर्च ऑपरेशन भी चलाया गया। आसपास के लोगों से पूछताछ कर पता लगाया जा रहा है कि हथियारों को लेकर आ रही नाव पर क्या किसी संदिग्ध को देखा गया है? हालांकि पुलिस का कहना है कि शुरुआती जांच में किसी आतंकी एंगल की बात सामने नहीं आई है।
बताते चलें कि २६ नवंबर, २००८ को हुए मुंबई आतंकी हमले में नाव के जरिए ही पाकिस्तान से आए आतंकी मुंबई में घुसे थे। कल हथियारों का जखीरा मिलने के बाद शिंदे सरकार का बयान आया है। मंत्री दीपक केसरकर ने कहा है कि ये गंभीर मसला है और मामले की जांच शुरू हो गई है। महाराष्ट्र और मुंबई में समुद्र के रास्ते आतंकी साजिश का पहले भी अलर्ट आता रहा है। ऐसे में इस घटना को सामान्य नहीं माना जा सकता। पुलिस और सुरक्षा एजेंसियां छानबीन में जुटी हैं कि यह किसी बड़े आतंकी हमले की तैयारी तो नहीं थी? इस बीच जब्त हुई नाव पर जिस कंपनी का स्टिकर लगा है, उसका कहना है कि कुछ दिन पहले अंतरराष्ट्रीय समुद्री क्षेत्र में उसने अपने बोट के डूबने की जानकारी दी थी। कंपनी  समुद्री सुरक्षा के काम से जुड़ी हुई है और बताया जा रहा है कि जब्त हुई नाव में मिले हथियार उसी के हैं। महाराष्ट्र पुलिस, एटीएस और क्राइम ब्रांच इस तथ्य की तस्दीक कर रहे हैं। महाराष्ट्र के ७२० किमी लंबे समुद्री किनारे पर हाईअलर्ट घोषित है। सुरक्षा एजेंसियां यह भी पता लगाने की कोशिश कर रही हैं कि कहीं त्योहार में किसी आतंकी वारदात को अंजाम देने की साजिश तो नहीं रची जा रही थी?

गृहमंत्री ने बताया बोट का नाम ‘लेडी हॉन’

गृहमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने इस बारे में कहा कि १६ मीटर लंबी एक दुर्घटनाग्रस्त नौका स्थानीय मछुआरों को मिली है। नौका से तीन एके-४७ राइफल, विस्फोटक सामग्री और कागजात बरामद किए गए हैं। इस घटना के बाद से समुद्री किनारे की नाकाबंदी कर दी गई है और हाईअलर्ट जारी कर दिया गया है। इस बारे में कोस्ट गार्ड और अन्य मशीनरी को सूचना दी गई है। मिली प्राथमिक जानकारी में बोट का नाम ‘लेडी हॉन’ है। इसकी मालकिन एक ऑस्ट्रेलियन महिला हाना लाउसर्गन है। इस महिला का पति जेम्स हार्बट नौका का कप्तान है। यह नौका मस्कट से यूरोप जा रही थी। रास्ते में नौका का इंजन खराब हो गया। बोट के नाविकों ने मदद के लिए कॉल किया। एक कोरियन युद्ध नौका ने बोट से नाविकों को बाहर निकाला और ओमान के हवाले कर दिया। नौका की टोइंग नहीं की जा सकी, जिसकी वजह से वह समुद्री प्रवाह में भटकती हुई हरिहरेश्वर तट के पास आ लगी।

अन्य समाचार