मुख्यपृष्ठविश्वशहबाज शरीफ के मन की बात : फिर गुलाम हुआ पाकिस्तान!

शहबाज शरीफ के मन की बात : फिर गुलाम हुआ पाकिस्तान!

  • कंगाली की कगार पर पहुंचा पाक

    सामना संवाददाता / कराची

हिंदुस्थान के पड़ोसी देश पाकिस्तान की हालत दिन-ब-दिन बद से बदतर होती जा रही है। गरीबी और भुखमरी में जीनेवाले पाकिस्तान के लोग महंगाई का रोना रो रहे हैं। बता दें कि पाकिस्तान कंगाली  की कगार पर जा पहुंचा है। अब खुद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने यह स्वीकार किया है कि पाकिस्तान आर्थिक रूप से गुलाम बन गया है।
गौरतलब है कि भारत की तरह पाकिस्तान भी इस साल अपनी आजादी के ७५ साल का जश्न मना रहा है। एक साथ आजाद हुए दो देश शुरू से विपरीत दिशा में चले हैं। जहां एक ओर भारत अंतरिक्ष से लेकर टेक्नोलोजी की दुनिया में धाक जमा रहा है, तो वहीं दूसरी ओर पाकिस्तान कंगाली की कगार पर है।
इस बीच पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के बयान ने और भी अधिक खलबली मचा दी है।
गौरतलब है कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष पर सीधा आरोप लगाते हुए उसे पाकिस्तान की बरबादी का कारण बताया है। शहबाज शरीफ ने कहा कि आजादी के ७५ साल बाद भी आईएमएफ ने नकदी की कमी वाले देश को `आर्थिक रूप से गुलाम’ बनाया हुआ है और अर्थव्यवस्था वैश्विक संस्थान पर निर्भर है।
शरीफ का छलका दर्द
खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के पेशावर शहर में बाढ़ प्रभावित इलाके के दौरे के दौरान एक सवाल के जवाब में शरीफ ने कहा, `हमने अपनी आजादी के बाद से पिछले ७५ वर्षों में क्या किया है, आईएमएफ ने हमें आर्थिक रूप से गुलाम बना दिया है।’

अन्य समाचार