मुख्यपृष्ठनए समाचारशंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद का दृढ़ निश्चय, प्राण प्रतिष्ठा में नहीं जाएंगे!

शंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद का दृढ़ निश्चय, प्राण प्रतिष्ठा में नहीं जाएंगे!

सामना संवाददाता / नई दिल्ली

उत्तर प्रदेश के अयोध्या में २२ जनवरी को भव्य राम मंदिर में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा का अनुष्ठान किया जाएगा, जिसे लेकर अयोध्या नगरी में जोर-शोर से तैयारियां चल रही हैं। केंद्र और यूपी सरकार इस कार्यक्रम को भव्य रूप देने के लिए बड़े पैमाने पर जुटी हुई है। इसी बीच ओडिशा के जगन्नाथपुरी मठ के शंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद सरस्वती ने दृढ़ निश्चिय लेते हुए एक बेहद चौंकानेवाला बयान दिया है। दरअसल, अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के अनुष्ठान समारोह में शामिल नहीं होने का उन्होंने एलान किया है। इसी के साथ ही उन्होंने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा है। मीडिया से बात करते हुए शंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद सरस्वती ने कहा कि मोदी जी लोकार्पण करेंगे, मूर्ति का स्पर्श करेंगे तो क्या मैं वहां बैठकर तालियां बजाकर जय-जयकार करूंगा? मेरे पद की भी कोई मर्यादा है।

राजनीति में इस वक्त कुछ भी सही नहीं है- शंकराचार्य

शंकराचार्य ने राम मंदिर ट्रस्ट की तरफ से मिले निमंत्रण को लेकर कहा कि मुझे जो आमंत्रण मिला है, उसमें यह लिखा हुआ है कि आप और आपके साथ सिर्पâ एक ही व्यक्ति रामलला के प्राण प्रतिष्ठा समारोह में आ सकते हैं। इसके अलावा हमसे किसी तरह का अब तक कोई संपर्वâ नहीं किया गया है, जिस वजह से मैं आयोजन में नहीं जाऊंगा। उन्होंने आगे कहा कि जिस तरह से राम मंदिर को लेकर राजनीति हो रही है वह बिल्कुल भी नहीं होनी चाहिए। राजनीति में इस वक्त कुछ भी सही नहीं है। पीएम मोदी भगवान की मूर्ति को स्पर्श करें और मैं वहां खड़े होकर ताली बजाऊं, यह मर्यादा के खिलाफ है।’

अन्य समाचार