मुख्यपृष्ठनए समाचारमंदिर का काम पूरा होने पर भगवान श्रीराम के दर्शन करेंगे शरद...

मंदिर का काम पूरा होने पर भगवान श्रीराम के दर्शन करेंगे शरद पवार! … मंदिर के ट्रस्टी को लिखे पत्र में किया उल्लेख

सामना संवाददाता / मुंबई
अयोध्या में श्रीराम मंदिर में प्रभु श्रीरामचंद्र का प्राण प्रतिष्ठा समारोह २२ जनवरी को होने वाला है। इस कार्यक्रम की शुरूआत गत मंगलवार से हो गई है। श्रीराम मंदिर के इस समारोह में इंडिया महागठबंधन के नेता नहीं जाएंगे। इस समारोह के लिए राकांपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद पवार को निमंत्रण नहीं भेजने का आरोप लगाया गया था। परंतु ट्रस्ट की ओर से शरद पवार को निमंत्रण आया है। शरद पवार ने भी २२ जनवरी को होने वाली प्राण प्रतिष्ठा समारोह के लिए निमंत्रण मिला है, ऐसा पवार ने स्पष्ट किया है। ट्रस्ट की ओर से आए आमंत्रण के लिए शरद पवार ने ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय का आभार माना है। इस संदर्भ में आभार का पत्र देते समय उन्होंने तीखी आलोचना की है।
शरद पवार ने ट्रस्टी चंपत राय को लिखे आभार पत्र में कहा है कि भगवान श्रीराम भारत ही नहीं बल्कि पूरे विश्व के भक्तों के श्रद्धास्थान है। विश्वभर के करोड़ों भक्तों की आस्था भगवान श्रीराम के संदर्भ में है। अयोध्या समारोह के संदर्भ में श्रीराम भक्तों में उत्सुकता है। इसलिए भारी संख्या में भक्त अयोध्या में आ रहे हैं । उनके माध्यम से इस ऐतिहासिक समारोह का आनंद हमारे पास पहुंचेगा। अयोध्या में भारी संख्या में श्रीराम भक्त आने वाले है, इसलिए २२ जनवरी के बाद रामलला के दर्शन करने के लिए आएंगे। मेरा अयोध्या आना नियोजित है। हम अयोध्या दर्शन के लिए आएंगे, तब तक राम मंदिर का काम पूरा हो जाएगा, ऐसा पत्र में उल्लेख किया है।
पत्र में अधूरे काम की ओर किया इशारा
शरद पवार ने ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय को भेजे आभार पत्र में मंदिर के अधूरे काम की ओर इशारा किया है। इसलिए शरद पवार के इस पत्र की चर्चा हो रही है। एक तरफ देश के नागरिकों का ध्यान अयोध्या में होने वाले समारोह की ओर लगा हुआ है, वहीं मंंदिर के अधूरे काम को लेकर शंकराचार्य से लेकर कांग्रेस, राकांपा आदि विरोधी दलों के नेताओं की ओर से आलोचना की जा रही है।

अन्य समाचार