मुख्यपृष्ठनए समाचारशिवसेना की जनता से अपील : स्वार्थ व धर्म की राजनीति करने...

शिवसेना की जनता से अपील : स्वार्थ व धर्म की राजनीति करने वालों को सबक सिखाएं

सामना संवाददाता / जम्मू कश्मीर

शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) जम्मू-कश्मीर इकाई द्वारा कश्मीर की दो लोकसभा सीटों पर नेशनल कॉन्फेंस व अनंतनाग से पीडीपी को सशर्त समर्थन की घोषणा पर स्वार्थ व धर्म पर अपनी राजनीतिक रोटियां सेंकने वालों के पेट में जोरदार दर्द उठना लााजिमी है, यह कहना है शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) प्रदेश प्रमुख मनीश साहनी का।
पार्टी प्रदेश मध्यवर्ती कार्यालय जम्मू से जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में प्रदेशप्रमुख मनीश साहनी ने कहा कि आपसी एकजुटता नहीं होने व हिंदू-मुस्लिम भाईचारे में सेंध का खामियाजा जम्मू-कश्मीर की अवाम भुगत चुकी है।‌ उन्होंने कहा कि अवाम के हित व हिंद-मुस्लिम भाईचारे व गठबंधन धर्म का पालन करते हुए उन्होंने कश्मीर की तीन लोकसभा सीटों पर इंडिया गठबंधन के दल नेकां व पीडीपी को‌ समर्थन देने की घोषणा की है,‌ जिसके बाद‌ पीपल्स कॉन्प्रâेंस के अध्यक्ष सज्जाद लोन समेत कुछ कट्टरवादी नेताओं के पेट में दर्द उठने लगा है। उन्होंने कहा कि ये नेता अपने निजी स्वार्थों को साधने के लिए जम्मू-कश्मीर के दो टुकड़े करने, राज्य का दर्जा छीनने तथा अवाम के अधिकारों का हनन करनेवालों की भाषा बोल उनकी कठपुतलियां बने हुए हैं। साहनी ने सज्जाद लोन के एक मीडिया चैनल को दिए गए साक्षात्कार में शिवसेना पर की गई टिप्पणी पर कड़ा संज्ञान लेते हुए कहा कि शिवसेना ने हमेशा राष्ट्र व अवाम के हक में आवाज बुलंद की है।‌ हमें किसी धर्म से नहीं राष्ट्रद्रोहियों से दिक्कत है। साहनी ने कहा कि वह सज्जन लोन‌ को नहीं जानते थे मगर जब उन्होंने सर्च किया तो उन्हें पता चला कि सज्जन लोन दिवंगत हुर्रियत नेता अब्दुल गनी लोन के बेटे हैं। जिन्होंने हुर्रियत से अलग होकर पीपल्स कॉन्फेंस पार्टी बनाई तथा २००९, २०१४ में लोकसभा चुनाव लड़े किंतु हार गए थे।

अन्य समाचार