मुख्यपृष्ठसमाचारशिवलिंग का रखवाला नाग! जिसने भी की मंदिर बनवाने की कोशिश, उसकी...

शिवलिंग का रखवाला नाग! जिसने भी की मंदिर बनवाने की कोशिश, उसकी हो गई मौत

सामना संवाददाता / सीवान। बिहार के सीवान में एक ऐसा शिव मंदिर है जहां भगवान शिव की खुले आसमान के नीचे पूजा होती है। ऐसी मान्यता है कि जिसने भी इस मंदिर का निर्माण करवाने की कोशिश की उसकी मौत हो जाती है। लोगों का दावा है कि गांव में एक नाग है जो मंदिर की रक्षा करता है। नाग के डर से गांव के लोग अपने घरों में ही देवी-देवताओं की पूजा करते हैं। जानकारी के अनुसार सीवान के महाराजगंज प्रखंड अंतर्गत पटेढ़ा पंचायत के सुरविर गांव की आबादी ७ हजार से ज्यादा है। यहां आज भी लोग अपने-अपने घरों में फोटो रखकर देवी-देवताओं की पूजा-अर्चना करते है। आज भी इस गांव में सालों पुराना एक शिवलिंग मौजूद है। लोग बताते है कि शिवलिंग पर मंदिर निर्माण कराने के लिए उनके पूर्वजों ने कई बार कोशिश की लेकिन जहरीले नाग के काटने से उनकी अकाल मृत्यु हो गई।
संदिग्ध हालत में हो जाती है मौत
गांव के ७५ वर्षीय बुजुर्ग सर्वानंद का कहना है कि उनके दादा के समय से उनके गांव में आज तक किसी भी देवी-देवता का मंदिर नहीं बना। वहीं उनके दादा ने जब शिवलिंग की स्थापना की और मंदिर निर्माण शुरू कराया तो उनकी खड़ाऊं मिट्टी के अंदर धंस गई और पैरों से खून निकलने लगा। लोग कुछ समझ ही पाते तब तक उनकी अकाल मृत्यु हो गई। तब से गांव में चर्चा का विषय बन गया कि जो भी देवी-देवताओं के मंदिर निर्माण के लिए आगे आएगा उनकी जहरीले नाग के काटने से मौत हो जाएगी।

अन्य समाचार