मुख्यपृष्ठटॉप समाचारशिवसेना का दशहरा सम्मेलन एक ही...शिवतीर्थ पर ही! ...गरजे शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे

शिवसेना का दशहरा सम्मेलन एक ही…शिवतीर्थ पर ही! …गरजे शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे

सामना संवाददाता / मुंबई
दशहरा सम्मेलन होता रहता है, पंकजा मुंडे भी दशहरा सम्मेलन करती हैं लेकिन शिवसेना का दशहरा सम्मेलन एक ही है… शिवसेना दशहरा सम्मेलन मतलब शिवतीर्थ पर, ऐसा शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने कल गरजते हुए कहा। शुक्रवार को बंजारा समाज के नेता महंत सुनील महाराज ने ‘मातोश्री’ निवास स्थान पर सैकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ शिवसेना में प्रवेश किया। इस मौके पर महंत का स्वागत करते हुए उद्धव ठाकरे ने बागी गद्दारों की जमकर खबर ली।
सुनील महाराज बंजारा समाज की देवी ‘पोहरादेवी’ के महंत हैं। पोहरादेवी के यहां ‘ललिता पंचमी’ के दिन मेला लगता है। इस मुहूर्त पर सुनील महाराज ने उद्धव ठाकरे की उपस्थिति में शिवसेना का भगवा ध्वज हाथ में लिया। उनके साथ बंजारा समाज के अध्यक्ष रविकांत राठौर और अन्य प्रमुख नेताओं ने इस मौके पर शिवसेना में प्रवेश किया। उद्धव ठाकरे ने उनका स्वागत किया। इस मौके पर पत्रकारों के साथ बातचीत में बगावत करनेवाले शिंदे गुट के दशहरा सम्मेलन को लेकर पूछे गए सवाल पर जमकर चुटकी लेते हुए पक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि कौन, कहां और वैâसे करता है, इसका शिवसेना से कोई लेना-देना नहीं। लेकिन शिवसेना का दशहरा सम्मेलन शिवाजी पार्क पर ही होता है।

उन्होंने कहा कि शिवसेना का क्या होगा, ऐसे सवाल कई लोगों के मन में उठ रहे हैं लेकिन इनका उत्तर आने से पहले शिवसेना १० कदम आगे बढ़ चुकी है। बंजारा समाज के खून में गद्दारी नहीं सुनील महाराज और बंजारा समाज के कार्यकर्ताओं का स्वागत
करते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि साधु-संत घर पर जब आते हैं तो दिवाली-दशहरा होता है, ऐसा हम मानते हैं। नवरात्रि के मुहूर्त पर बंजारा समाज के महंत ने शिवसेना में प्रवेश किया है। मैं उनका स्वागत करता हूं। बंजारा समाज के कट्टर शिवसैनिक आज भी हमारे साथ हैं, क्योंकि शिवसेना ने जिन्हें बड़ा किया उन्होंने ही हमारे पीठ में खंजर घोंपा है। लेकिन बंजारा समाज के खून में गद्दारी नहीं है। यह समाज हमारे साथ है।

विचारों का उत्तराधिकारी कहना दुर्भाग्यपूर्ण
गद्दार विधायकों द्वारा उनके दशहरा सम्मेलन का टीजर लॉन्च किया गया है। इस टीजर में खुद को शिवसेनाप्रमुख बालासाहेब ठाकरे के विचारों का उत्तराधिकारी होने का दावा किया है। इस पर उद्धव ठाकरे ने कटाक्ष करते हुए कहा कि हम उनके विचारों के उत्तराधिकारी हैं, ऐसा कहना दुर्भाग्यपूर्ण है।

बंजारा समाज को शिवसेना ही न्याय दे सकती है
राज्य में डेढ़ से दो करोड़ बंजारा समाज बंधुओं को शिवसेना ही न्याय दे सकती है और उन्हें समाज की मुख्यधारा में शामिल कर उनका विकास सिर्फ शिवसेना ही कर सकती है, ऐसा विश्वास महंत सुनील महाराज ने व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि शिवसेना के साथ बंजारा समाज पूरी मजबूती के साथ खड़ा रहेगा। राज्य के मंत्री संजय राठौड़ पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा कि राठौड़ ने बंजारा समाज की अवहेलना की है।

अन्य समाचार