मुख्यपृष्ठनए समाचार‘गेमबाजों' को झटका...महंगा हुआ ऑनलाइन गेम खेलना!

‘गेमबाजों’ को झटका…महंगा हुआ ऑनलाइन गेम खेलना!

सामना संवाददाता / नई दिल्ली

गेम खेलनेवाले ‘गेमबाजों’ को सरकार ने जोरदार झटका दिया है। अब ऑनलाइन गेम खेलना महंगा हो गया है। वित्त मंत्रालय द्वारा नोटिफिकेशन जारी की गई है, जिसके मुताबिक ई-गेमिंग, कैसिनो और घुड़सवारी जैसे खेलों को जीएसटी के तहत लाया गया है। केंद्रीय जीएसटी एक्ट में संशोधनों के अनुसार ई-गेमिंग, कैसिनो और घुड़सवारी को लॉटरी, सट्टेबाजी और जुए की तरह ‘एक्शनेबल क्लेम्स’ के रूप में देखा जाएगा और २८ फीसदी जीएसटी लगेगा। जीएसटी कानून के संशोधित प्रावधानों के क्रियान्वयन के लिए १ अक्टूबर की तारीख नोटिफाई की है। हालांकि, ई-गेमिंग कंपनियों ने कहा कि चूंकि कई राज्यों ने अभी तक अपने संबंधित राज्य एसजीएसटी कानूनों में संशोधन पारित नहीं किया है तो सीजीएसटी और आईजीएसटी कानूनों में केंद्र सरकार की यह नोटिफिकेशन भ्रम पैदा करेगी।

विधायक पर टोना-टोटका
सामना संवाददाता / लखीमपुर खीरी
उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले की मोहम्मदी विधानसभा से भाजपा विधायक लोकेंद्र प्रताप सिंह टोना-टोटका को लेकर चर्चा का विषय बने हुए हैं। दरअसल, उन पर किसी ने टोना-टोटका कर दिया। इसके बाद लोकेंद्र प्रताप ने फेसबुक पर टोटके की तस्वीर शेयर कर दी। जानकारी मिली है कि कस्बे के ही एक चौराहे पर किसी ने एक डोलची में विधायक की फोटो रखकर उसमें सभी प्रकार की दालें, सिंदूर और साथ ही एक शराब की शीशी रख दी। विधायक जी ने फेसबुक पर एक लंबा-चौड़ा वैâप्शन लिख डाला। उन्होंने लिखा कि ‘हमारे खिलाफ हमारा फोटो रखकर टोना कर रहे हैं। इनको पता नहीं मैं भोलेनाथ का अनन्य भक्त हूं। ऐसे टोटकों से कुछ नहीं होने वाला।

पूर्व विधायक की बेटी ने किया सुसाइड
सामना संवाददाता / बुरहानपुर
मध्य प्रदेश के बुरहानपुर जिले में खकनार जनपद पंचायत की अध्यक्ष २४ वर्षीय पूजा दादू ने फांसी लगाकर देर रात सुसाइड कर लिया। पूजा दादू पूर्व विधायक राजेंद्र दादू की बेटी और मध्यप्रदेश विपणन बोर्ड की उपाध्यक्ष व राज्यमंत्री दर्जा प्राप्त मंजू दादू की बहन थीं। उनकी आत्महत्या के कारण का फिलहाल पता नहीं चल पाया है। बताया जाता है कि जिस वक्त पूजा ने सुसाइड किया, वे उस वक्त घर में अकेली थीं। पूजा ने सुसाइड से पहले फेसबुक पर पोस्ट किया था, जिसमें उन्होंने लिखा था कि ‘मृत्यु अंतिम सत्य है, लेकिन असामयिक मृत्यु अति कष्टदायक होती है।’ पूजा ने आत्महत्या करने से पहले फेसबुक पर जो पोस्ट की थी, उसमें नावरा में गणेश विसर्जन के दौरान दो बच्चों की मौत और रहमानपुरा गांव में ग्रामीण प्रेमलाल के निधन का उल्लेख किया था।

अन्य समाचार