मुख्यपृष्ठनए समाचारधक्कादायक! ... महाराष्ट्र का एक और बड़ा प्रोजेक्ट चला गुजरात?

धक्कादायक! … महाराष्ट्र का एक और बड़ा प्रोजेक्ट चला गुजरात?

सामना संवाददाता/ मुंबई
सिंधुदुर्ग जिले से पनडुब्बी परियोजना गुजरात जाने की जानकारी सामने आई है। इस खबर से तो हड़कंप मच गया है। अब यह देखना अहम होगा कि सत्तापक्ष के नेता इस पर क्या सफाई देते हैं। विपक्ष ने इस मुद्दे पर सरकार को घेरना शुरू कर दिया है। दरअसल, सिंधुदुर्ग जिले के पर्यटन को बढ़ाने के लिए २०१८ में एक पनडुब्बी परियोजना की घोषणा की गई थी। देश का यह पहली पनडुब्बी परियोजना निवती रॉक्स के पास समुद्र में आने वाली थी। इस परियोजना का उद्देश्य पानी के नीचे की दुनिया की गहराई का पता लगाना था। लेकिन अब इस परियोजना को गुजरात सरकार ने अपने हाथ में ले लिया है और संभावना है कि यह परियोजना गुजरात चली जाएगी। इस परियोजना के लिए ५६ करोड़ का फंड मंजूर किया गया था। हालांकि, सरकार की अरुचि के कारण सिंधुदुर्ग पनडुब्बी परियोजना को बढ़ावा नहीं मिला। इस पनडुब्बी परियोजना में पर्यटक समुद्र के नीचे अद्भुत दुनिया देख सकते थे। यह परियोजना स्थानीय लोगों के लिए रोजगार पैदा करने वाली थी। लेकिन जब धनराशि आवंटित कर दी गई, तो समस्याएं कहां आर्इं? इसका जवाब हुक्मरानों को देना होगा। अब कहा जा रहा है कि गुजरात के द्वारका के समुद्र में यह पनडुब्बी परियोजना ले जाई जा रही हैं। आगामी जनवरी महीने में वाइब्रेंट गुजरात समिट में इसकी आधिकारिक घोषणा की जाएगी।

यह समझ से परे है -रोहित पवार
महाराष्ट्र में पनडुब्बी परियोजना के गुजरात में जाने की खबर सामने आने के बाद एनसीपी विधायक रोहित पवार ने ट्विटर के जरिए सरकार पर निशाना साधा। ‘महाराष्ट्र ने आज तक इतनी बुरी स्थिति कभी नहीं देखी है जब एक के बाद एक प्रोजेक्ट महाराष्ट्र से गुजरात की ओर बढ़ रहे हैं। ये समझ से परे है। विरोधी आवाज उठाते थे, विरोध करते थे। लेकिन सरकार तो अपनी आंखों पर पर्दा डालकर और कानों पर हाथ रखकर यह दिखाती है कि जैसे कुछ हुआ ही नहीं है, इसे कैसे बर्दाश्त किया जा सकता है? रोहित पवार ने पूछा है कि हम और कितने दिन तक ये खबर पढ़ते रहेंगे।

महाराष्ट्र की परियोजना गुजरात ट्रांसफर
मेरा मानना ​​है कि महाराष्ट्र का युवा तब तक शांत नहीं बैठेगा और तब तक नहीं रुकेगा जब तक इस सरकार को इसकी जगह नहीं दिखा देता। क्योंकि यह लड़ाई महाराष्ट्र के धर्म के लिए है, महाराष्ट्र के स्वाभिमान के लिए है और महाराष्ट्र की अस्मिता के लिए है’, ऐसा रोहित पवार ने ट्विटर पर कहा। इस खबर पर विधायक जीतेंद्र आव्हाड ने कहा कि पूरे महाराष्ट्र के पूरे प्रोजेक्ट गुजरात ले जाओ और बेरोजगारी बढ़ने दो।

अन्य समाचार