मुख्यपृष्ठअपराधमंगाए थे जूते, आई चप्पल! रिटर्न रिक्वेस्ट पर लगी १ लाख...

मंगाए थे जूते, आई चप्पल! रिटर्न रिक्वेस्ट पर लगी १ लाख की चपत

सामना संवाददाता / मुंबई
साइबर क्राइम अपराधी ठगी की नई-नई तरकीबें अपना कर लोगों को खासकर पुलिस को चौंकाते हैं। ऐसा ही एक चौंकानेवाला मामला बोरिवली से सामने आया है, जिसमें पेंशन पर गुजारा करनेवाले एक वरिष्ठ नागरिक से ई-कॉमर्स पोर्टल के रिप्रेजेंटेटिव के रूप में एक साइबर जालसाज ने १.०१ लाख रुपए ठग लिए। बोरीवली पुलिस थाने में दर्ज शिकायत के अनुसार अपने परिवार के साथ बोरीवली-पश्चिम में रहनेवाले ६७ वर्षीय शिकायतकर्ता ने ९ अगस्त को एक ई-कॉमर्स पोर्टल से ब्रांडेड जूतों का ऑर्डर दिया था। १५ अगस्त को उन्हें पार्सल मिला तो था, लेकिन उसमें जूते नहीं बल्कि चप्पलें थीं। इसके बाद उन्होंने पार्सल वापस करने के लिए पोर्टल पर पिकअप के लिए रिक्वेस्ट डाल दी। बताया जा रहा है कि
पार्सल वापसी की रिक्वेस्ट करने के ४५ मिनट के भीतर, सीनियर सिटीजन को एक फोन आया। फोन करने वाले ने कहा कि वह ई-कॉमर्स पोर्टल का प्रतिनिधि है और प्रॉडक्ट वापसी के बारे में बोलना चाहता है। इसके बाद उसने कहा कि उन्हें एक लिंक भेजा जाएगा और वरिष्ठ नागरिक को ‘एनी डेस्क’ नामक ऐप डाउनलोड करना होगा। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि शिकायतकर्ता को इस बात की जानकारी नहीं थी कि ऐप कॉल करने वाले को उसकी फोन स्क्रीन तक रिमोट एक्सेस प्रदान कर देगा। उसने ऐप डाउनलोड कर लिया।’ इसके बाद कॉल करनेवाले ने उसे दिए गए लिंक में अपना क्रेडिट  कार्ड डेटा भरने के लिए कहा। ऐसा करते ही शिकायतकर्ता के अकाउंट से दो लेन-देन में ५०,७१५ रुपए की राशि कट गई। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

अन्य समाचार