मुख्यपृष्ठनए समाचारसीएनजी की शॉर्टेज!टैक्सी, ऑटो चालकों पर तिहरी मार... महंगाई, सीएनजी की ऊंची...

सीएनजी की शॉर्टेज!टैक्सी, ऑटो चालकों पर तिहरी मार… महंगाई, सीएनजी की ऊंची कीमतों के साथ अब कमी से परेशान

  • कमाई कुछ नहीं, कैसे चलाएं घर? पीएम मोदी से पूछ रहे सवाल

रामदिनेश यादव / मुंबई
महानगर में शुक्रवार को बड़ी संख्या में लोग स्टेशन के बाहर ऑटो और टैक्सी का इंतजार करते दिखे। टैक्सी और ऑटो के इंतजार में लोग घंटों सड़कों पर खड़े रहे। मजबूरन बस तथा अन्य वाहनधारकों से लिफ्ट का सहारा लेकर अपने कार्यालय पहुंचे। करते भी क्या? क्योंकि टैक्सी और ऑटो चालक सीएनजी के लिए गैस पंप पर लंबी लाइनों में खड़े अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे। हालात ऐसे थे कि चार से पांच घंटे लंबे इंतजार के बाद भी उन्हें सीएनजी गैस नहीं मिली। गैस पंप ने तो सीधे बंद होने का बोर्ड लगा दिया। दरअसल, शुक्रवार को मुंबई में सीएनजी की भारी कमी आ गई, जिसके चलते मुंबई में कई बड़े सीएनजी गैस पंप अस्थायी समय के लिए बंद कर दिए गए।
ऐसे में पहले महंगाई और सीएनजी के बढ़े दामों से परेशान ऑटो टैक्सी चालक शुक्रवार को सीएनजी गैस की कमी से पूरी तरह त्रस्त नजर आए। दिन में भागदौड़ कर होनेवाली कमाई भी गैस की कमी के चलते नहीं हो पाई। मतलब रोज के मेहनताने पर जीनेवाले टैक्सी-ऑटो चालकों की आमदनी शून्य रही। कुछ लोग गाड़ी नहीं निकाल पाए। टैक्सी चालक नंदलाल पांडे ने बताया कि रात से सीएनजी गैस की कमी पंप पर देखने को मिली। सुबह लगभग १० बजे तक ज्यादातर गैस पंपों पर गैस की कमी थी। इससे सुबह की शिफ्टवाले चालकों को मुसीबत का सामना करना पड़ा। पांडे ने साफ शब्दों में कहा कि पहले से ही हम महंगाई और सीएनजी की कीमतों की वृद्धि से परेशान हैं। अब यह नई समस्या गैस शॉर्टेज की हमें और तकलीफ दे रही है। हमारा पीएम से सवाल है कि कमाएं क्या और खाएं क्या?
दादर, अंधेरी, बांद्रा, कांजुरमार्ग जैसे कई इलाकों में सीएनजी गैस पंपों पर लंबी लाइनें दिखीं। कई जगह तो गैस नहीं होने की वजह से पंप के बाहर नोटिस बोर्ड लगा दिया गया, जिससे लोगों की परेशानी बढ़ गई थी। इस बारे में महानगर गैस लिमिटेड के अधिकारियों ने गैस की किल्लतों की पुष्टि की। कहा कि विभिन्न कारणों के चलते गैस सप्लाई बराबर से नहीं हो पाई, जिस वजह से कई पेट्रोल पंपों पर समय से गैस नहीं पहुंच पाई। अधिकारी ने यह भी कहा कि लगातार छुट्टियों के चलते लोगों में एडवांस में गैस खरीदी की है। छुट्टियों में शॉर्टेज के डर से लोगों ने गैस ज्यादा खरीदा है। इसीलिए शॉर्टेज हुआ है।

अन्य समाचार