मुख्यपृष्ठटॉप समाचारश्रीराम को भी ठग लिया, ठप पड़ा राम वन गमन मार्ग

श्रीराम को भी ठग लिया, ठप पड़ा राम वन गमन मार्ग

-१० माह में तीसरी बार टूटा टांटिया पुल!

-डबल इंजिन सरकार की ट्रिपल नाकामी

विक्रम सिंह / सुलतानपुर

राम वन गमन मार्ग (अयोध्या-शृंगवेरपुर-चित्रकूट) पर कुशनगरी सुलतानपुर में स्थित टांटिया नगर पुल दस माह के भीतर फिर तीसरी बार क्षतिग्रस्त हो गया है, जिसके चलते ७२ घंटे से आवागमन ठप है। कांग्रेस पुल निर्माण में कमीशनखोरी और सरकारी मशीनरी में भ्रष्टाचार को लेकर सड़क पर उतर चुकी है और सरकार पर हमलावर है। ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा कि इन कमीशनखोरों ने `श्रीराम’ को भी ठग लिया है।
बता दें कि सुलतानपुर के गोसार्इंगंज थानांतर्गत अयोध्या-प्रयागराज हाईवे व राम वन गमन मार्ग पर टांटिया नगर गोमती पुल स्थित है। ये पुल आएदिन क्षतिग्रस्त हो रहा है। बार-बार मरम्मत के बावजूद शनिवार की रात दस महीने के भीतर तीसरी बार फिर ये क्षतिग्रस्त हो गया, जिससे दो महत्वपूर्ण तीर्थस्थलों के मध्य आवागमन ठप हो गया है। दर्जनों किलोमीटर की अतिरिक्त दूरी तय करके वैकल्पिक मार्ग से वाहनों को गंतव्य की ओर भेजा जा रहा है। ऐसे हालात में कांग्रेस सरकारी मशीनरी व निर्माण संबंधी कार्यों में व्याप्त भ्रष्टाचार को लेकर हमलावर हो चुकी है।

सोमवार को कांग्रेस जिलाध्यक्ष अभिषेक सिंह राणा व शहर अध्यक्ष शकील अंसारी की अगुआई में कार्यकर्ता भ्रष्टाचार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए जिला कांग्रेस कमेटी कार्यालय से लालडिग्गी चौराहा, सुपर मार्केट, डाकखाना चौराहा होते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचे। जहां `कमीशनखोरी बंद करो’, `भ्रष्ट अधिकारियों पर कार्यवाही करो’ नारे लगाते हुए जमकर हंगामा किया। जिला मजिस्ट्रेट को संबोधित ज्ञापन में कांग्रेसियों की मांग है कि टांटिया नगर गोमती सेतु बार-बार क्षतिग्रस्त होना कमीशनखोरी और कदाचार का परिचायक है। भ्रष्ट अधिकारी व कार्यदायी संस्था पर दंडात्मक कार्रवाई सुनिश्चित की जाए। पुल की मरम्मत तकनीकी अधिकारियों व प्रथम श्रेणी के मजिस्ट्रेट की निगरानी में किया जाए। संपूर्ण जनपद में विकास से संबंधित निर्माणकार्य जनपद के विधायक सहित संबंधित विभाग के अधिकारियों व कार्यदायी संस्था की मिलीभगत से भ्रष्टाचार का शिकार हो रहे हैं, जिसके कारण मानक को दरकिनार कर हो रहे निर्माण कार्य माहभर के अंदर ही क्षतिग्रस्त हो रहे हैं। ऐसी स्थिति में संबंधित की जिम्मेदारी सुनिश्चित की जाए। जिला प्रोबेशन अधिकारी सुल्तानपुर के विरुद्ध १६ लाख रुपए का गबन सिद्ध होने के बाद भी उनका अपने पद पर बने रहना सरकार की जीरो टॉलरेंस नीति का खुला मखौल है ऐसे में जिला प्रोबेशन अधिकारी को तत्काल निलंबित कर गबन की धनराशि उनसे वसूल कर राजकीय कोष में जमा कराया जाय आदि मांगों को लेकर कांग्रेस के नेताओं व कार्यकर्ताओ ने विरोध प्रदर्शन कर जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा। कलेक्ट्रेट परिसर में धरना प्रदर्शन को वरिष्ठ नेता ओपी चौधरी, राजेश तिवारी, तेज बहादुर पाठक,वरुण मिश्र, सुब्रत सिंह सनी, पवन मिश्रा कटांवा, सभासद संजय कप्तान ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर नफीस फारुकी, अमोल बाजपेयी, महेश मिश्रा, योगेश पाण्डेय, राहुल मिश्र, पवन मिश्रा नन्हे,मीनू यादव, अतहर नवाब, अरुण तिवारी,विपिन कनौजिया, मानस तिवारी, सिराज अहमद भोला, अरशद पवार नीरज सिंह मोहित तिवारी, गुड्डू जायसवाल, सलीम अहमद, असलम अंसारी, विजय पाल, मनोज कुमार तिवारी, विभु पांडे, नंदलाल मौर्य, महेंद्र सिंह मास्टर, प्रेम भारती, दया शंकर दुबे, ममनून आलम, इमरान अहमद, लालता पाठक, प्रदीप सिंह, आवेश अहमद, रणजीत सिंह सलूजा हामिद राईनी मोहसिन सलीम, देवेंद्र तिवारी, राजकुमार शर्मा, अर्श खान लकी, जमींदार यादव रियाज खान लड्डू, जेपी तिवारी, सिराज सिद्दीकी,आर बी पाण्डेय, विनोद पांडे, पूनम कोरी, शीतला साहू आदि लोग मौजूद रहे।

अन्य समाचार