मुख्यपृष्ठसमाचारधर्मांतरण के साइड इफेक्ट : ३० घंटे से शव कर रहा है...

धर्मांतरण के साइड इफेक्ट : ३० घंटे से शव कर रहा है अंतिम संस्कार का इंतजार

  • ‘ईसाई’ पत्नी और हिंदू परिवार के बीच मतभेद

सामना संवाददाता / पीलीभीत
प्रलोभन, प्रभाव, परेशानी या प्रताड़ना जैसी वजहों से प्राय: लोग अपना धर्म परिवर्तन कर लेते हैं। पीलीभीत में ऐसी ही किसी वजह से धर्म परिवर्तन करने वाले एक शख्स के शव को धर्म परिवर्तन के साइड इफेक्ट का सामना करना पड़ रहा है। यूपी के तराई वाले जिले पीलीभीत में धर्मांतरण कर चुके उक्त मृतक के अंतिम संस्कार को लेकर परिवार और उसकी पत्नी के ही बीच विवाद खड़ा हो गया। बता दें कि मृतक प्रमोद कुमार के परिवार वाले उसका अंतिम संस्कार हिंदू रीति रिवाज से करना चाहते हैं, जबकि पत्नी सीमा, ईसाई धर्म के अनुसार। मामला पीलीभीत के जहानाबाद थाना क्षेत्र के मोहल्ला कटरा के ५२ वर्षीय निवासी प्रमोद कुमार से जुड़ा है। प्रमोद कुमार एक ब्राह्मण परिवार से थे और काफी दिनों से बीमार थे। लखनऊ में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। बताया जा रहा है कि प्रमोद कुमार की पत्नी सीमा प्रमोद कुमार व बच्चों ने काफी दिन पहले हिंदू धर्म छोड़कर ईसाई धर्म को अपना लिया था। ३० घंटे पहले प्रमोद कुमार की डेड बॉडी उनके गृह जनपद लाई गई तो उनकी पत्नी ने पति का अंतिम संस्कार ईसाई रीति रिवाज से करने की इच्छा जताई, जिस पर प्रमोद के घर वाले बिगड़ गए और अंतिम संस्कार हिंदू रीति रिवाज से करने पर अड़ गए। बात मरने-मारने तक पहुंच गई तो मामला पुलिस तक पहुंच गया। पुलिस दोनों पक्षों को समझने की कोशिश में जुटी है।

अन्य समाचार