मुख्यपृष्ठनए समाचारकारागार में बंद भाइयों को राखी बांधने पहुंची बहनें, भाई से सुधरने...

कारागार में बंद भाइयों को राखी बांधने पहुंची बहनें, भाई से सुधरने का लिया वादा

उमेश गुप्ता / वाराणसी

धर्म की नगरी काशी में बहन-भाई के पवित्र रिश्ते का प्रतीक पर्व रक्षाबंधन गुरुवार को उल्लासपूर्ण माहौल में मनाया गया। तिथियों और भद्राकाल की बाधा के बाद बहनों ने सुबह से ही अपने भाइयों की कलाई पर राखी बांधना शुरू किया। थाली में राखी, रोरी, अक्षत दीप आदि सजाकर भाई के माथे पर तिलक किया। इसके बाद कलाई में राखी बांधकर आरती उतारी और अपने भाइयों के सुख एवं समृद्धि की कामना की।
चौका घाट स्थित जिला कारागार में बंद भाइयों को राखी बांधने के लिए बहनों की भारी भीड़ कारागार के बाहर सुबह से लग गई थी। कारागार में आवश्यक कार्रवाई के बाद बहनों को अंदर जाने दिया गया। जेल में बंद अपने भाई को रक्षाबंधन के पर्व पर राखी बांध बहनें काफी खुश नजर आईं तथा अपने भाइयों को रक्षासूत्र बांध बहनों ने मुंह मीठा करवाया। वहीं जेल में बंद भाइयों ने सभी बुराइयों को त्याग अपनी बहनों की रक्षा करने का वादा किया। इस मौके पर पूरे जिला कारगार में खुशी का माहौल रहा।
गौरतलब है कि जिला कारागार में प्रत्येक वर्ष रक्षाबंधन के पर्व पर जिला जेल में बंद भाइयों को बहनें राखी बांधने के लिए पहुंचती हैं। इस बार रक्षाबंधन बंधन के पर्व पर बहनों को राखी के साथ बंद पैकेट वाली मिठाई के साथ जाने की अनुमति मिली। वहीं जिन बहनों ने बंद पैकेट वाले मिठाई नहीं लीं, जिला कारागार की तरफ से उन बहनों को मिठाई उपलब्ध करवाया गया।

अन्य समाचार