मुख्यपृष्ठनए समाचारएसआईटी निकालेगी ईडी की हेकड़ी!

एसआईटी निकालेगी ईडी की हेकड़ी!

सामना संवाददाता / मुंबई । केंद्रीय प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की मुश्किलें बढ़नेवाली हैं। ईडी अधिकारियों के कथित अवैध वसूली की जांच अब मुंबई पुलिस के तेजतर्रार अधिकारी द्वारा की जाएगी। इसके लिए गृहमंत्री ने अतिरिक्त पुलिस आयुक्त वीरेश प्रभु की अध्यक्षता (स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम) में एसआईटी जांच के आदेश दिए हैं। मुंबई पुलिस ईडी के चार अधिकारियों के खिलाफ जबरन वसूली और भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच कर रही है। इससे पहले पुलिस उपायुक्त की निगरानी में मुंबई पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्ल्यू) इसकी जांच कर रही थी, लेकिन अब यह जांच एसआईटी करेगी। एसआईटी ईडी की हेकड़ी निकालती हुई अपनी जांच रिपोर्ट गृह विभाग को सौंपेगी।
महाराष्ट्र के गृहमंत्री दिलीप वलसे पाटील ने मंगलवार को कहा कि शिवसेना सांसद संजय राऊत द्वारा प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के कुछ अधिकारियों के खिलाफ लगाए गए कथित जबरन वसूली के आरोपों की जांच के लिए एक विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया गया है। वलसे पाटील ने कहा, हमने इन आरोपों की जांच के लिए एक एसआईटी का गठन किया है। इसकी अध्यक्षता अतिरिक्त पुलिस आयुक्त वीरेश प्रभु कर रहे हैं। इस जांच के लिए उनको भरपूर समय देंगे।
शिवसेना नेता संजय राऊत ने ईडी अधिकारियों की एक सूची दी थी और उन पर जितेंद्र नवलानी नामक व्यक्ति की मदद से करोड़ों रुपए की उगाही का आरोप लगाया था। ८ मार्च को राऊत ने मीडिया के सामने एक सनसनीखेज खुलासा किया था। उन्होंने दावा किया था कि वैâसे ईडी के अधिकारी और भाजपा के करीबी माने-जानेवाले नवलानी ने विभिन्न बिल्डरों और कॉरपोरेट्स से धमकियों की जांच के बदले में कथित तौर पर धन लिया। केंद्रीय एजेंसी पर भाजपा के एटीएम की तरह काम करने का आरोप लगाया था। इसके बाद मुंबई पुलिस में अरविंद भोसले ने इसकी शिकायत की, जिसकी जान एसआईटी द्वारा की जाएगी।

अन्य समाचार