मुख्यपृष्ठसमाचारअधिक देर तक बैठना सेहत के लिए है नुकसान!

अधिक देर तक बैठना सेहत के लिए है नुकसान!

– कमजोर हो जाती हैं पैरों की मांसपेशियां… रक्त संचार भी हो जाता है धीमा

सामना संवाददाता / मुंबई

घंटोें बैठे रहना खतरनाक हो सकता है। अगर किसी व्यक्ति का काम एक ही स्थिति में ६-७ घंटे बैठने की मांग करता है, तो इसके प्रभाव रोजाना सिगरेट पीने के समान हो सकते हैं। चिकित्सकों के मुताबिक, कई घंटों तक लगातार बैठे रहने से पैरों की मांसपेशियों को पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं मिल पाता है। इसके साथ ही रक्त संचार धीमा होने से मांसपेशियां कमजोर हो जाती है। इससे पैरों में भारीपन और सूजन जैसी शिकायतें बढ़ जाती हैं। जिला सरकारी अस्पताल के हड्ड़ी रोग विशेषज्ञ डॉ. विलास सालवी ने कहा कि व्यायाम करने और गतिहीन जीवनशैली और अधिक देर तक बैठ रहने भोजन ठीक से पच नहीं पाता है। इसलिए शरीर में वसा और चीनी जमा हो जाती है और वर्षों तक वजन बढ़ता रहता है, जिससे मोटापा बढ़ता है। इससे पेट में सूजन, कब्ज, एसिडिटी की समस्या होने लगती है और हमारा उत्सर्जन तंत्र अपना काम नहीं कर पाता है। हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. धीरज महांगड़े ने कहा कि लंबे समय तक बैठे रहने से जांघ के सामने की मांसपेशियां सिकुड़ जाती हैं। इसके साथ ही पीठ की मांसपेशियां अत्यधिक खिंच जाती हैं, जिससे दोनों मांसपेशियों के बीच असंतुलन पैदा हो जाता है। परिणामस्वरूप पीठ दर्द और कूल्हे की समस्याएं बढ़ जाती हैं। ज्यादातर समय गतिहीन लोग अपने आसन पर ज्यादा ध्यान नहीं देते हैं।

अन्य समाचार