मुख्यपृष्ठनए समाचार‘गणेश भक्तों’ को आसमानी सुरक्षा! ऊपर से रहेगी ड्रोन की नजर

‘गणेश भक्तों’ को आसमानी सुरक्षा! ऊपर से रहेगी ड्रोन की नजर

सामना संवाददाता / ठाणे
हाल ही में मुंबई के एक होटल में बम रखने की धमकी ने जनता के मन में डर पैदा कर दिया था। तीन दिनों बाद मुंबई-ठाणे के साथ पूरे महाराष्ट्र में भक्तों के चहेते ‘बाप्पा’ का आगमन होनेवाला है। बाप्पा के आगमन से लेकर विसर्जन तक भक्तों की भारी भीड़ दर्शन के लिए विभिन्न जगहों पर आएगी। भारी भीड़ में कोई भी अमानवीय घटना न घटे इसलिए ठाणे पुलिस द्वारा विशेष इंतजाम किया जा रहा है। इसी के तहत भीड़ पर नजर रखने के लिए इस वर्ष ठाणे पुलिस ने ड्रोन का इस्तेमाल करने का निर्णय लिया है। इसके साथ ही लगभग ४ हजार पुलिस जवानों को सुरक्षा की दृष्टि से तैनात किया जाएगा। इतना ही नहीं, पुलिस ने मंडलों के साथ बैठक कर उन्हें अपने मंडलों में सीसीटीवी लगाने की सलाह भी दी है।
बता दें कि कुछ दिन पहले ही सहार के एक फाइव स्टार होटल में बम रखने की धमकी दी गई थी। इसके बाद आम लोगों में डर का माहौल देखा गया था। इस घटना के बाद सभी खुफिया एजेंसियां और पुलिस अलर्ट पर आ गई है। दो वर्षों बाद इस वर्ष बाप्पा का आगमन धूमधाम से होने जा रहा है। इस दौरान गणेश पंडालों में गणेश भक्तों की भीड़ इकट्ठा होने का अनुमान है। भीड़ का फायदा उठाकर असमाजिक तत्व किसी भी अप्रत्याशित घटना को अंजाम न दे पाएं इसलिए सभी पुलिस कमिश्नर क्षेत्रों में अलर्ट जारी किया गया है। इसी के तहत ठाणे पुलिस आयुक्तालय द्वारा भी गणेशोत्सव के तहत सुरक्षा की तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। ठाणे पुलिस ने पुलिस आयुक्तालय क्षेत्र में सभी मंडलों के साथ बैठकें करनी शुरू कर दी हैं। मंडलों को अनुमति देने से पहले विभिन्न उपाय योजना करने की हिदायत भी दी है। ठाणे पुलिस अतिरिक्त आयुक्त अशोक मोराले ने बताया कि सुरक्षा में कोई भी लापरवाही नहीं बरती जाएगी। सेंसेटिव जोन में विभिन्न मंडलों के साथ बैठक लेकर नियमों का पालन करने की हिदायत दी गई है।
पुलिस ने विभिन्न स्थानों पर मंडलों की बैठक में मंडलों से खुद का कम-से-कम एक सीसीटीवी लगाने को कहा है। अधिकतर मंडलों ने पुलिस को मंडपों में सीसीटीवी लगाने का आश्वासन दिया है।

 

अन्य समाचार