मुख्यपृष्ठसमाचारबिहार के मंत्री का अजब युक्तिवाद,  मंत्री की स्पीकर से उड़ती है...

बिहार के मंत्री का अजब युक्तिवाद,  मंत्री की स्पीकर से उड़ती है नींद ….`सो नहीं पाते हैं हम’

•  उपेंद्र कुशवाहा का `लाउडस्पीकर’ पर बयान भाजपाइयों ने साधी चुप्पी
•  बिहार सरकार में साझेदार है भाजपा
सामना संवाददाता / पटना । खुद को हिंदुत्ववादी साबित करने के लिए भाजपा के लोग देशभर में हिजाब, हलाल, और मस्जिदों पर भोंगे जैसे विवादों को भड़काने का प्रयास कर रहे हैं। इसी बीच भाजपा शासित बिहार के एक मंत्री ने मंदिर के लाउडस्पीकर पर आपत्ति जताकर भाजपा के हिंदुत्व को कटघरे में खड़ा कर दिया है। नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली भाजपा व जदयू गठबंधन की सरकार में मंत्री उपेंद्र कुशवाहा का कहना है कि वे मंदिर के लाउडस्पीकर की आवाज से परेशान हैं। सुकून से सो नहीं पाते हैं। उनके इस अजब युक्तिवाद पर फिलहाल भाजपाई नेता हैरान होकर चुप्पी साधने को मजबूर हो गए हैं। जदयू संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष ने कहा कि ४ बजे से ही मंदिर में लाउडस्पीकर बजने लगता है। उनके बयान पर आम नागरिकों के साथ विपक्षी नेताओं में भी ये चर्चा शुरू हो गई है कि आखिर भाजपाइयों ने चुप्पी क्यों साध रखी है? उनके चुप्पी साधने के पीछे की वजह बिहार सरकार में भाजपा का साझेदार होना तो नहीं है।
उपेंद्र कुशवाहा ने भूतत्व मंत्री जनक राम के मस्जिद में बजनेवाले लाउडस्पीकर पर रोक लगाने की मांग पर भी टिप्पणी की। उन्होंने कहा कि मंत्री ने क्या सोचकर ये बयान दिया है? ये तो वही जानें लेकिन ऐसा नहीं है कि इसके दायरे में केवल मस्जिद ही आती है, बल्कि ऐसी स्थिति मंदिरों के मामले में भी आती है।
आवाज को रोकने पर विचार करना चाहिए
कुशवाहा ने कहा कि कभी-कभी डेढ़-दो बजे रात में घर लौटकर सोने जाते हैं, तभी लाउडस्पीकर बजने लगता है। तेज आवाज कहीं से भी आए, उसे रोकने पर विचार किया जाना चाहिए। कुशवाहा ने कहा कि बात मंदिर-मस्जिद की नहीं है। ध्यान इस बात पर दिया जाना चाहिए कि यह आवाज खासकर सोने यानी रात के समय या तड़के सुबह न हो।
भाजपा अध्यक्ष पर भी भड़के
इसके अलावा कुशवाहा भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल के एक बयान पर भड़क गए। दरअसल, जायसवाल ने कुशवाहा को लेकर कहा था कि वे बताएं कि वे खुद २०२५ तक जदयू में रहेंगे या नहीं? क्योंकि ५ साल वे एक पार्टी में नहीं रहते हैं। इस पर कुशवाहा ने कहा कि ये सवाल पूछनेवाले वे कौन होते हैं? कुशवाहा ने कहा कि ऐसा सवाल जनता पूछ सकती है या फिर उनकी पार्टी के प्रमुख नीतीश कुमार पूछ सकते हैं।

अन्य समाचार