मुख्यपृष्ठसमाचारविधायकों को तोड़ने में हुए विफल तो शुरू किया ईडी छापों का...

विधायकों को तोड़ने में हुए विफल तो शुरू किया ईडी छापों का सत्र! जयंत पाटील का आरोप

सामना संवाददाता / मुंबई। महाराष्ट्र में महाविकास आघाड़ी सरकार के घटक दलों के नेताओं के खिलाफ राज्य के भाजपाई नेता लगातार साजिशें रच रहे हैं। इसमें केंद्र सरकार और उसकी केंद्रीय जांच एजेंसियां उनकी मदद कर रही हैं। इस पर राकांपा के प्रदेश अध्यक्ष और जल संसाधन मंत्री जयंत पाटील ने कल तीखा हमला बोला। जयंत पाटील ने कहा कि पहले महाविकास आघाड़ी के निर्वाचित होकर आए विधायकों को तोड़ने का प्रयास किया गया। उसमें सफलता नहीं मिली तो ईडी, इनकम टैक्स, सीबीआई द्वारा छापेमारी शुरू करा दी गई। ईडी महाराष्ट्र की है क्या, जो यहीं डेरा डाले बैठी है। क्या भाजपा के लोग दूध के धुले हैं? राकांपा के प्रदेश अध्यक्ष और जल संसाधन मंत्री जयंत पाटील ने ऐसा जोरदार सवाल भाजपा से पूछा है।
कल (११ अप्रैल) से राकांपा परिवार संवाद यात्रा का पांचवां चरण रायगढ़ जिले के उरण विधानसभा क्षेत्र से संपन्न हुआ। इस अवसर पर जयंत पाटील ने उरण विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र की समीक्षा की। जयंत पाटील ने कहा कि छापे सत्र से भी लोग नहीं डरे तो कुछ लोग परेशान हो गए और उन्होंने शरद पवार के घर पर पथराव करा दिया। शरद पवार ने हमेशा एसटी कर्मचारियों के लिए लड़ाई लड़ी, उनकी बात सुनी, लेकिन कुछ लोगों द्वारा एसटी कर्मचारियों को भड़काने की कोशिश की गई। आजाद मैदान में उन्होंने भड़काऊ भाषण दिया। उसके बाद घटना घटी।
संघर्ष के बाद होती है विजय
जयंत पाटील ने कहा कि निराश न हों, संघर्ष के बाद जीत होती है, इसलिए थक मत जाना। २०१९ विधानसभा चुनाव का समय था। सभी नेता छोड़कर जा रहे थे। पार्टी नहीं बचेगी, यह भविष्यवाणी की गई थी कि १०-१५ विधायक चुने जाएंगे लेकिन शरद पवार बाहर आए और कांग्रेस एवं राकांपा के १०० विधायक चुनकर आ गए। राज्य की जनता ने आघाड़ी पर विश्वास किया और सत्ता परिवर्तन हुआ।
दूध का दूध पानी का पानी होगा
‘फिलहाल गिरफ्तारियों की जांच की जा रही है। दूध का दूध पानी का पानी होगा, लेकिन इसमें शामिल अन्य लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए।’ ऐसी मांग जयंत पाटील ने इस मौके पर की। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी फुले-शाहू-आंबेडकर की विचारों पर चलती है। सांप्रदायिक पार्टियों को जवाब सिर्फ राकांपा ही दे सकती है, ऐसा जयंत पाटील ने उल्लेख किया।

अन्य समाचार