मुख्यपृष्ठनए समाचारसोलंकी की मुश्किल और बढ़ी! ...सपा विधायक की साजिश का पर्दाफाश

सोलंकी की मुश्किल और बढ़ी! …सपा विधायक की साजिश का पर्दाफाश

• एसपी नेता के मददगार अशरफ ने उगले राज
• फर्जी आधार कार्ड बनानेवाले की तलाश में जुटी पुलिस

सामना संवाददाता /कानपुर
महिला की झोपड़ी में आग लगाने और प्लॉट कब्जाने के आरोप में जेल में बंद समाजवादी पार्टी के विधायक इरफान सोलंकी की मुश्किलें दिन-ब-दिन लगातार बढ़ती जा रही हैं। इस मामले में पूछताछ के दौरान सोलंकी के मददगार अशरफ अली उर्फ शेखू पुलिस के सवालों का जवाब बेबाकी से देता रहा। अशरफ अली उर्फ शेखू ने पुलिस के सामने साजिश कबूल की और बताया कि विधायक पर केस दर्ज होने के बाद उसका मकसद सपा विधायक सोलंकी को बचाना था। इसलिए उसने सपा विधायक का साथ दिया। उसने बताया कि मुंबई जाने की योजना विधायक की थी। जिस कारण उसने मुंबई का टिकट करवाकर सपा विधायक को पहले दिल्ली छोड़ा और फिर इसके बाद सोलंकी वहां से फ्लाइट पकड़कर मुंबई चला गया। बता दें कि बीते रविवार को पुलिस ने अशरफ को हिरासत में ले लिया था।

अशरफ ने दी थी सोलंकी को शरण
जिसके बाद दूसरे दिन पुलिस ने उसको बुलाया तो वह खुद ही थाने आ गया। वहीं इस दौरान उससे लगातार पूछताछ की जाती रही। मिली जानकारी के अनुसार, अशरफ ने पुलिस को बताया कि इरफान सोलंकी से उसके पारिवारिक रिश्ते हैं। जब सपा विधायक पर केस दर्ज हुआ तो वह और उसकी बहन नूरी शौकत सभी लगातार इरफान के संपर्क में थे। वहीं बीते ९ नवंबर को इरफान सोलंकी अशरफ के घर पहुंचे थे, तब उसने सोलंकी को शरण दी थी। इसी दौरान सोलंकी के फरार होने की साजिश रची गई थी। सपा विधायक की इस साजिश में अशरफ, नूरी व अन्य ने उनका साथ दिया। अशरफ ने पुलिस को बताया कि सोलंकी को इस बात की भनक लग गई थी कि पुलिस उनकी गिरफ्तारी कर उनपर बड़ी कार्रवाई करेगी।

अली नाम के शख्स ने बनाया था फर्जी आधार कार्ड
इस कारण से इरफान सोलंकी का पहला मकसद था कि वह जल्द से जल्द यूपी को छोड़ दे। वहीं मुंबई में विधायक के रिश्तेदार रहते थे, इसलिए उसने मुंबई जाने की बात कही थी, तभी फर्जी आधार कार्ड तैयार कर मुंबई की टिकट बुक की गई थी। पूछताछ के दौरान अशरफ ने बताया कि अली नाम के व्यक्ति ने फर्जी आधार कार्ड बनाया था, जिसे इरफान ने खुद बुलाया था। बताया गया है कि अली कर्नलगंज निवासी है। उसके पास इसके अलावा अली के बारे में कोई जानकारी नहीं है। अशरफ ने बताया कि अली विधायक का परिचित है। बता दें कि पुलिस अपने स्तर से फर्जी आधार बनानेवाले अली की तलाश कर रही है। पूछताछ में बताया गया कि जो फर्जी आधार कार्ड बनाया गया था, उसे नष्ट कर दिया गया है।

अन्य समाचार