मुख्यपृष्ठसमाचारगुजरात में कुछ तो गड़बड़ है! प्रदेशाध्यक्ष हटाने की भाजपा ने की...

गुजरात में कुछ तो गड़बड़ है! प्रदेशाध्यक्ष हटाने की भाजपा ने की तैयारी

  • मंत्रिमंंडल में भी फेरबदल के आसार
  • अनजाने डर से परेशान हैं सत्ताधारी

सामना संवाददाता / गांधीनगर
गुजरात विधानसभा चुनाव जैसै-जैसे नजदीक आ रहा है वैसे-वैसे भाजपा को डर सता रहा है। भाजपा की हलचल से गुजरात में कुछ तो गड़बड़ है। जहां भाजपा प्रदेशाध्यक्ष को हटाने की भाजपा तैयारी कर रही है। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष को हटाने के साथ ही मंत्रिमंडल में भी फेरबदल करने के आसार दिकाई देने लगे हैं। जानकारी के अनुसार सत्‍तारूढ़ भाजपा और आम आदमी पार्टी अपने-अपने दांव-पेंच आजमाने में लगी हैं। दोनों एक-दूजे पर हमलावर हैं। गुजरात पहुंचे आम आदमी पार्टी के चीफ व दिल्‍ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कल दावा किया कि उनकी एंट्री से सत्‍तारूढ़ भाजपा डर गई है। केजरीवाल ने एक ट्वीट में कहा, `गुजरात में, भाजपा सरकार आम आदमी पार्टी से बेहद डरी हुई है।’ इसी बीच यह खबर आने लगी कि गुजरात में भाजपाध्‍यक्ष बदला जा सकता है। केजरीवाल ने कल दावा किया कि आम आदमी पार्टी के कारण राज्य में भाजपा दहशत में है। उनका यह नवीनतम ट्वीट तब आया, जबकि दिल्ली में आबकारी नीति मामले पर राजनीतिक गतिरोध जारी है, वहीं केजरीवाल गुजरात के ताबड़तोड़ दौरे कर रहे हैं। कल भी केजरीवाल गुजरात में थे और उन्‍होंने गुजरात में होने वाले इस साल के विधानसभा चुनाव में अगली सरकार अपनी चुने जाने का भरोसा जताया है।
आरोपों की लड़ाई भी हुई तेज
जानकारी के मुताबिक अब जल्द ही गुजरात भाजपा अध्यक्ष सीआर पाटील को हटाया जा रहा है। केजरीवाल ने हिंदी में ट्वीट किया, `क्या भाजपा इतनी डरी हुई है?’ बता दें कि केजरीवाल व दिल्‍ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया दोनों ही कल से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गृह राज्य गुजरात में हैं। आबकारी नीति मामले में कथित विसंगतियों की जांच में सीबीआई अधिकारियों द्वारा सिसोदिया के घर की तलाशी लेने के कुछ दिनों बाद ही उनकी यह यात्रा हुई है। जहां उक्‍त मामले में जांच जारी है, वहीं दो राजनीतिक दलों के बीच आरोपों की लड़ाई भी तेज होती जा रही है। सिसोदिया ने सोमवार को एक बड़ा दावा किया था कि प्रतिद्वंद्वी पार्टी ने ‘आप’ को विभाजित करने के लिए उनसे संपर्क किया था। सिसोदिया ने कहा कि उन्होंने सीबीआई और ईडी के मामलों को बंद करने की पेशकश की और उन्होंने यहां तक ​​कह दिया कि मैं मुख्यमंत्री बनूंगा, क्योंकि उनके पास मुख्यमंत्री का चेहरा नहीं है।

 

अन्य समाचार