मुख्यपृष्ठनए समाचारसाउथ कोरिया रच रहा है किम जोंग की हत्या की साजिश ......

साउथ कोरिया रच रहा है किम जोंग की हत्या की साजिश … अमेरिका-चीन होंगे आमने-सामने!

मनमोहन सिंह
साउथ कोरिया के डिफेंस मिनिस्टर शिन वोन-सिक एमबीएन टेलीविजन पर एक इंटरव्यू के दौरान रिपोर्टर से कहते हैं, ‘हर्मिट किंगडम (बनावटी देश के राजा) यानी कि उत्तर कोरिया के सुप्रीम लीडर को बाहर निकाल फेंकना ही एक मात्र ‘ऑप्शन’ है। नॉर्थ कोरिया का सामना करने के लिए तानाशाह की हत्या एक ऑप्शन है। इसके लिए हमारी सेना ड्रिल कर रही है। इसके अलावा परमाणु हथियारों की तैनाती को भी ऑप्शन में रखा गया है। इसकी तैयारी भी की जा रही है। (डिकैपिटेशन ड्रिल) ‘हत्या अभ्यास’ में अमेरिकी सेना भी हमारा साथ दे रही है।’
रिपोर्टर का अगला सवाल, ‘किंम जोंग उन की हत्या वैâसे की जाएगी?’
‘विकल्पों पर विचार किया जा रहा है।’
साउथ कोरिया की सरकार ने खुले तौर पर स्वीकार कर लिया है कि उसकी फौज नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन की हत्या की कोशिश करने के प्रयास कर रही है। दरअसल, ३१ दिसंबर को नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन ने २०२४ के लिए अपने एक प्लान का जिक्र करते हुए बताया कि नॉर्थ कोरिया २०२४ में ३ और जासूसी सैटेलाइट लॉन्च करने की योजना बना रहा है। नॉर्थ कोरिया २०२४ में और परमाणु हथियार भी बनाएगा, इस खबर के आने के बाद तानाशाह किम जोंग से बुरी तरह खफा साउथ कोरिया के डिफेंस मिनिस्टर ने प्रेस से बातचीत में साफ तौर पर किम जोंग के सफाये की बात कही। अब हत्या की योजना की खबर से जिसमें साउथ कोरिया की मदद अमेरिका भी कर रहा है, खौफजदा किम जोंग ने अमेरिका और साउथ कोरिया के खिलाफ खौफनाक हुंकार भरते हुए अपनी सेना को आदेश दिया कि अगर यूएस और साउथ कोरिया उकसावे की कार्रवाई करते हैं तो उनका नामोनिशान मिटा दो। किम जोंग ने सेना के कमांडिंग ऑफीसर्स के साथ मीटिंग की जिसमें किम जोंग ने कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा की रक्षा के खातिर सबसे कीमती हथियार ‘परमाणु हथियारों’ को हमले के लिए तैयार रखना जरूरी है।
नॉर्थ कोरिया की डिफेंस रिपोर्ट के अनुसार, नवंबर में अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव से पहले नॉर्थ कोरिया की ओर से इस साल हथियारों के परीक्षण में और तेजी लाई जा सकती है। इस मीटिंग से पहले बीते हफ्ते ५ दिवसीय बैठक हुई थी। जिसमें किम जोंग ने कहा था कि नॉर्थ कोरिया इस साल ३ और सैन्य जासूसी उपग्रहों का प्रक्षेपण करेगा, परमाणु हथियारों का उत्पादन करेगा और हमला करने वाले ड्रोन तैयार करेगा। जहां एक ओर साउथ कोरिया को अमेरिका मदद कर रहा है वहीं दूसरी ओर चीन नॉर्थ कोरिया की मदद के लिए सामने आया है। हालांकि, अपनी हत्या के डर से किम जोंग-उन अपनी सुरक्षा को और मजबूत बनाने के प्रयास शुरू कर दिए हैं।
गौरतलब है कि चीन के प्रेसिडेंट शी जिनपिंग और डेमोक्रेटिक पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ कोरिया के सुप्रीम लीडर किम जोंग ने २०२४ को चीन-डीपीआरके मैत्री वर्ष के रूप में नामित किया। कम्युनिस्ट ऑफ चाइना सेंट्रल कमेटी के जनरल सेक्रेटरी जिनपिंग, वर्कर्स पाटी ऑफ कोरिया के जनरल सेक्रेटरी और डीपीआरके के प्रेसिडेंट जोंग ने नए साल के शुभकामना संदेशों के आदान-प्रदान में यह घोषणा की।

अन्य समाचार