मुख्यपृष्ठस्तंभसेहत का तड़का : खुशी सदा सुखी

सेहत का तड़का : खुशी सदा सुखी

एस. पी. यादव

सनाया ईरानी का जन्म १७ सितंबर, १९८३ को मुंबई में एक ईरानी परिवार में हुआ। बचपन से ही स्वाभाविक रूप से फिट और छरहरी सनाया इन दिनों सोशल मीडिया पर बेहद सक्रिय हैं। इंस्टाग्राम पर वह अक्सर अपनी डाइट व फिटनेस टिप्स साझा करती रहती हैं। बकौल सनाया, ‘जब हम खुश होकर भोजन और व्यायाम करते हैं, तो फिटनेस में अपने आप निखार आ जाता है।’

ऊटी के एक बोर्डिंग स्कूल से पढ़ाई पूरी करने के बाद सनाया ईरानी ने सिडनम कॉलेज से ग्रेजुएशन पूरा किया। इसके बाद एमबीए की डिग्री हासिल की। इस बीच फोटोग्राफर से अभिनेता बने बोमन ईरानी ने सनाया का पहला मॉडलिंग पोर्टफोलियो शूट किया। मॉडलिंग के दौरान ही अभिनय की पारी शुरू करते हुए २००६ में सनाया ने ‘यशराज’ की फिल्म ‘फना’ में एक छोटा किंतु अहम किरदार निभाया। २००७ में उन्होंने सब टीवी के धारावाहिक ‘लेफ्ट राइट लेफ्ट’ में काम किया। इसके बाद २००८ में उन्होंने धारावाहिक ‘मिले जब हम तुम’ में लीड रोल किया। २०११ में धारावाहिक ‘इस प्यार को क्या नाम दूं’ में खुशी गुप्ता के किरदार ने उन्हें घर-घर में लोकप्रिय बना दिया। इन दिनों सनाया वेबसीरिज और म्यूजिक वीडियो में ज्यादा व्यस्त हैं।
व्यायाम के साथ-साथ ध्यान
आनुवंशिक रूप से छरहरी काया पानेवाली सनाया ईरानी भले ही जिम प्रâीक नहीं हैं, लेकिन प्रतिदिन व्यायाम करती हैं। वह रोज सुबह लगभग एक घंटे तक वॉक करती हैं। कभी-कभी रनिंग और साइक्लिंग करती हैं। वह सप्ताह में तीन-चार दिन सुबह जिम जाती हैं, जहां मुख्य रूप से स्क्वाटिंग, जंपिंग, पुशअप्स जैसे कार्डियो एक्सरसाइज करती हैं। पिलाटे और हल्की-फुल्की वेट ट्रेनिंग भी करती हैं। वह अक्सर घर पर ही योग-अभ्यास, ध्यान और स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज करती हैं।
छह छोटी खुराकों में भोजन
सनाया ईरानी किसी खास डाइट चार्ट को फॉलो करने की बजाय छह छोटी-छोटी खुराकों में भोजन लेना पसंद करती हैं। मंगलवार और गुरुवार को वह शाकाहारी भोजन लेती हैं। सनाया नाश्ते में अंडा या मूसली या फिर एक ग्रिल चीज सैंडविच, पोहा, इडली और एक गिलास जूस पीती हैं। कभी-कभार वह नाश्ते में दलिया या पनीर सैंडविच खाती हैं। दोपहर के भोजन से पहले वह एक कप कॉफी पीती हैं। किवी, लीची, स्ट्राबेरी या फिर कोई मौसमी फल खाती हैं। लंच में दो रोटी, सब्जी, दाल, चावल और दही लेती हैं। शाम ४ बजे के करीब हाई फाइबर बिस्कुट के साथ एक कप ब्लैक कॉफी या चाय लेती हैं। शाम के नाश्ते में ड्राई प्रâूट्स और कोई एक फल खाती हैं।
रात १० बजे से पहले डिनर
सनाया रात के भोजन में दो चपाती, मिक्स सब्जियां, भुना हुआ चिकन और सलाद लेती हैं। ज्यादा भूख न लगी हो तो एक कटोरी सूप पीती हैं। वह हर हाल में रात १० बजे से पहले डिनर कर लेती हैं। सनाया को समोसा, पारंपरिक पारसी व्यंजन धनशक, दाल तड़का, मशरूम की सब्जी, ब्राजीलियन रैप्स (विशेष तरह का सैंडविच), छोला, राजमा चावल, बटर चिकन, चिकन करी पसंद है।

सनाया की पसंदीदा मशरूम-मटर की रेसिपी
सामग्री: पाव किलो मशरूम, १०० ग्राम मटर के दाने, १०० ग्राम टमाटर, आधा चम्मच हल्दी, आधा चम्मच धनिया, आधा चम्मच गरम मसाला, आधा चम्मच जीरा, आधा चम्मच लाल मिर्च, एक चुटकी हींग, एक चम्मच अमचूर पाउडर, दो चम्मच तेल और स्वादानुसार नमक।
विधि: कुकर में तेल और हींग-जीरे का छौंक तैयार कर टमाटर का गूदा डालें और भूनें। अमचूर छोड़कर बाकी मसाले भी भून लें। मसाले भून लेने के बाद इसमें मटर के दाने डालें। मशरूम को छोटे-छोटे टुकड़े कर डाल दें। एक गिलास पानी डालकर सब्जी चलाकर कुकर को बंद कर दें। तीन सीटी आ जाने पर गैस बंद कर दें। थोड़ी देर बाद कुकर खोलकर इसमें अमचूर पाउडर बुरक दें। पूरी सब्जी को एक उबाल आने तक पकाएं और गरमागरम परोसें।
फायदे: इसकी एक सर्विंग में १२३ वैâलोरी मिलती है। पर्याप्त प्रोटीन और फाइबर होने के कारण यह वजन को नियंत्रित रखने और पाचनतंत्र को स्वस्थ रखने में कारगर है। इसमें मौजूद ल्यूटिन एक प्रकार का एंटीऑक्सीडेंट है, जो आंखों की कोशिकाओं को स्वस्थ रखता है। इसमें मौजूद विटामिन के हड्डियों को मजबूती देता है। इसमें मौजूद सेलेनियम लिवर को सक्रिय बनाता है और वैंâसर होने से रोकता है।

अन्य समाचार