मुख्यपृष्ठसमाचारआतंकी हमले में शहीद एसपीओ के भाई की मौत

आतंकी हमले में शहीद एसपीओ के भाई की मौत

सुरेश एस डुग्गर / जम्मू। बडगाम जिले में हुए आतंकी हमले में एक स्पेशल पुलिस अफसर (एसपीओ) और उनके भाई की मौत हो गई। रविवार को दोनों की अंतिम विदाई के मौके पर हजारों की संख्या में लोग पहुंचे। इस दौरान सभी की आंखों में पानी और चेहरे पर मायूसी थी। बच्चे, युवा, महिलाएं और बुजुर्ग दोनों भाइयों के आखिरी दीदार के लिए आए हुए थे और सभी ने नम आंखों से उन्हें अंतिम विदाई दी।

हमले में एसपीओ शहीद और भाई गंभीर रूप से घायल हो गए थे। रविवार सुबह उनकी भी मौत हो गई। हमले के बाद आतंकी फरार हो गए। पुलिस ने आतंकियों को पकड़ने के लिए छत्तबुग और उसके साथ सटे इलाकों में तलाशी अभियान चलाया जो देर रात गए तक जारी था। हमले के लिए लश्कर-ए-तैयबा का हिट स्क्वॉड कहे जाने वाले आतंकी संगठन द रजिस्टेंस प्रâंट टीआरएफ को जिम्मेदार माना जा रहा है। उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने इस आतंकी हमले की कड़े शब्दों में निंदा की है। उन्होंने शहीद इशफाक अहमद को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि गंभीर रूप से घायल शहीद का भाई उमर जल्द स्वस्थ होकर घर लौटे, वह इसकी कामना करते हैं। इस आतंकी हमले के दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

पुलिस के मुताबिक, आतंकियों का इरादा पूरे परिवार को मौत के घाट उतारना था। आतंकियों ने अन्य दो भाइयों को घर पर न पाकर इशफाक व उमर को अपने साथ चलने के लिए कहा लेकिन उन्होंने जब प्रतिरोध किया तो आतंकियों ने उन पर भी अंधाधुंध गोलियों की बौछार शुरू कर दी। इशफाक और उमर दोनों ही जख्मी होकर जमीन पर गिर पड़े। उन्हें मरा समझ आतंकी वहां से फरार हो गए।

अन्य समाचार