मुख्यपृष्ठस्तंभश्री-वास्तव उ-वाच : सर कटे कंकालों का रहस्य

श्री-वास्तव उ-वाच : सर कटे कंकालों का रहस्य

  • अमिताभ श्रीवास्तव

सर कटे कंकालों का रहस्य
सर कटे कंकालों का रहस्य गहरा गया है। दरअसल पश्चिमी स्लोवाकिया में पुरातत्वविदों को चौंका देनेवाला अवशेष मिला है। स्लोवाकिया के व्रेबल टाउन में पाषाण युग की बस्ती में तीन दर्जन लोगों के कंकालों को खोजा है, जिनके सर को काट दिया गया था। यह मध्य-यूरोपीय में निओलिथिक बस्ती की खुदाई में मिला है। पुरातत्वविदों की अंतरराष्ट्रीय शोध टीम, स्लोवक और जर्मन पुरातत्वविद से मिलकर बनी है। यह इस साइट पर स्टोन एज ​​​​के सबसे बड़े मध्य-यूरोपीय की बस्ती की खोज में खुदाई कर रहे हैं। पहले से तीन बस्तियां खोजी जा चुकी है, जो लगभग ५० हेक्टेयर के क्षेत्र में फैली हुई थीं। शोध में अब तक ३०० से अधिक घरों का खुलासा हुआ है। पिछले सात सालों से हो रही इस खुदाई में और भी कब्रों की खोज की गई थी और इस साल खाई के तल में पेंâके गए लगभग ३५ वंâकालों का पता लगा, जिसमें एक बच्चा भी शामिल था, सभी कंकालों में एक चीज समान मिली मतलब ये कि किसी का सिर नहीं था बस बच्चे का कंकाल नॉर्मल था।
उम्र २५ साल, २२ बच्चे, ८३ और की चाहत
इसे मूर्खता कहें या प्राकृतिक खिलवाड़ जो भी हो मगर ऐसे अजीब नमूनों से भी भरी पड़ी है दुनिया। अब देखिए न क्रिस्टीना ओजटर्क नामक एक लड़की जो रूस से हैं। इनके २५ साल की उम्र में ही २२ बच्चे हैं, हैरानी की बात यह है कि ये अभी और बच्चे चाहती हैं। २२ बच्चों में से इनके २१ बच्चे सरोगेसी की मदद से हुए हैं। क्रिस्टीना ने महज १७ साल में ही अपने पहले बच्चे को जन्म दिया था और अब उनके २२ बच्चे हैं लेकिन उन्हें और उनके पति को ८३ और बच्चे चाहिए। क्रिस्टीना ओजटर्क का इंस्टाग्राम अकाउंट भी है, जिस पर वह अपने बच्चों की तस्वीरें और वीडियो को साझा करती रहती हैं। वे दुनिया में इतने बच्चों को पैदा करने के बाद काफी चर्चित हो गई हैंै। उन्होंने अपने पिछले साल के एक इंटरव्यू में बताया कि वे कुल १०५ बच्चों को जन्म देना चाहती है। उनसे इस पर भी सवाल हुआ कि वे इतने बड़े परिवार का खर्च वैâसे उठाती हैं या कितना खर्च आता होगा? क्रिस्टीना ने कहा कि करीब ८ लाख बच्चों की परवरिश के लिए खर्च आता है।
बाल विवाह वाला कर्नाटक
बाल विवाह अपराध है। अपने देश में अब लड़कियों की शादी की उम्र भी २१ कर दी गई है। मगर बावजूद इसके बाल विवाह रुक नहीं रहे। यदि सही उम्र में शादी की बात हो तो पश्चिम बंगाल और झारखंड इस मामले में टॉप पर हैं। दोनों राज्यों में ज्यादातर लड़कियों की शादी २१ की उम्र में हो जाती है। देश की राजधानी दिल्ली में यह आंकड़ा १७ फीसदी लड़कियों का है। हाल ही में रजिस्ट्रार जनरल और जनगणना आयुक्त की तरफ से जारी रिपोर्ट में ये बात सामने आई है। मगर कर्नाटक का मामला अलग है। यहां साल २०२१-२०२२ में कर्नाटक में ४१८ बाल विवाह हुए हैं। रिपोर्ट में २०१७-२०१८ से तुलना करते हुए इसमें ३०० फीसदी की बढ़ोतरी बताई गई है। जम्मू-कश्मीर का रिकॉर्ड इस मामले में सबसे अच्छा है। यहां २०२० में १० फीसदी से भी कम लड़कियों की शादी २१ साल की उम्र में हुई। इस तरह देश में कर्नाटक में बाल विवाह आज भी बदस्तूर जारी है।
एयर होस्टेस के पहनावे पर पाकिस्तानी नजर
रू़ढिवाद और कट्टरता आधुनिक युग में भी महिलाओं को पाबंदियों में रखता है और इसका उदाहरण मुस्लिम राष्ट्रों में देखे जा सकते हैं। पाकिस्तान फिर भी अन्य मुस्लिम राष्ट्रों से थोड़ा आधुनिक माना जा सकता है मगर महिलाओं के मामले में कोई बेहतरी नहीं दिखती। अब देखिए, पाक की नेशनल एयर लाइंस के महाप्रबंधक आमिर बशीर ने एयरलाइन की एयर होस्टेस के पहनावों पर आपत्ति जताई है। उन्होंने कहा कि एयर होस्टेस के कपड़ों पर काफी शिकायतें आई है। वे जब एयरलाइंस के दफ्तर आती हैं, होटलों में ठहरती है और दूसरे शहरों की यात्रा के समय अनुचित कपड़े पहनती हैं तो इसका खराब प्रभाव एयरलाइंस पर पड़ा है। इससे पीआईए की छवि खराब हो रही है। वैसे एयर होस्टेस का काम ही ऐसा होता है, जिसमें पहनावा भी एक खास किस्म का होता है। लगभग पूरी दुनिया की एयर होस्टेज की अपनी ड्रेस है। मगर अब पाकिस्तान कुछ नियम लादने की प्रक्रिया में है।

लेखक सम सामयिक विषयों के टिप्पणीकर्ता हैं। ३ दशकों से पत्रकारिता में सक्रिय हैं व दूरदर्शन धारावाहिक तथा डाक्यूमेंट्री लेखन के साथ इनकी तमाम ऑडियो बुक्स भी रिलीज हो चुकी हैं।

अन्य समाचार