मुख्यपृष्ठसमाचारएमपी में `मामा' की सरकार का सौतेला व्यवहार!.... कांग्रेस सरकार की योजना पर...

एमपी में `मामा’ की सरकार का सौतेला व्यवहार!…. कांग्रेस सरकार की योजना पर नहीं हो रहा अमल

• एयर स्ट्रीप का निर्माण कार्य अटका रही है सरकार

इमरान खान / छिंदवाड़ा । मध्य प्रदेश में भाजपा की शिवराज सिंह `मामा’ की सरकार में सौतेला व्यवहार अब खुलकर दिखाई देने लगा है, जिसके चलते छिंदवाड़ा शहर से १० किलोमीटर दूर बैतूल रोड पर बनाई जाने वाली एयर स्ट्रीप का निर्माण भाजपा सरकार के ढुलमुल रवैये के चलते खटाई में पड़ गया है। मध्य प्रदेश में कमलनाथ सरकार के दौर में छिंदवाड़ा में एयरपोर्ट का निर्माण प्रस्तावित किया गया था। बैतूल रोड पर टिकाड़ी के पास इसके लिए सर्वे भी हो गया था लेकिन जैसे ही शिवराज सरकार सत्ता में आई कमलनाथ के गृह जिले को नजरअंदाज कर एयरपोर्ट का निर्माण एयरस्ट्रीप तक सीमित कर दिया गया।
बजट में नहीं दी गई कोई राशि
बता दें कि मध्य प्रदेश सरकार ने प्रस्तावित नई एयर स्ट्रीप के लिए पिछले साल के बजट में ६ करोड़ ७२ लाख रुपए का प्रावधान भी किया लेकिन इस साल बजट में कोई राशि नहीं दी गई। पिछले बजट में एयर स्ट्रीप के लिए डीपीआर तैयार करने के लिए रकम आवंटित की गई थी। लेकिन एक साल बीतने के बाद भी डीपीआर तो दूर इसके लिए अनुमति तक नहीं मिल पाई। शिवराज सिंह की सरकार की इस लापरवाही से नई एयर स्ट्रीप का प्रोजेक्ट ठंडे बस्ते में चला गया है। बता दें कि छिंदवाड़ा के लोग एयरपोर्ट का सपना संजोये थे लेकिन विमानन विभाग की अरुचि की वजह से एयर स्ट्रीप भी नहीं बन पाई। दरअसल, एयरस्ट्रीप के लिए डीपीआर के टेंडर की अनुमति और दिशा-निर्देश विमानन विभाग देता है। एक साल से अधिक समय बीत गया लेकिन अनुमति तक नहीं दी गई।
भाजपा के प्रति बढ़ी नाराजगी
जानकारी के अनुसार छिंदवाड़ा में इमलीखेड़ा में पहले से एक एयर स्ट्रीप है, जिसमें ३० मीटर चौड़ाई और १,४८६ मीटर लंबाई का रनवे है लेकिन बड़े विमानों के लिए ये एयर स्ट्रीप छोटी पड़ती है। प्रदेश की पिछली कांग्रेस सरकार ने इलाके के पर्यटन और यहां के संतरों एवं अन्य उपज से बेहतर मुनाफे के लिए महानगरों से हवाई कनेक्टिविटी बनाने के लिए छिंदवाड़ा एयर पोर्ट का प्रस्ताव दिया था और काम भी शुरू हो गया था। सरकार के इस रवैये के चलते लोगों में नाराजगी दिखाई दे रही है।

अन्य समाचार