मुख्यपृष्ठनए समाचारअभिनेत्री लैला खान और परिवार की हत्याकांड में सौतेले पिता को मौत...

अभिनेत्री लैला खान और परिवार की हत्याकांड में सौतेले पिता को मौत की सजा …१३ साल बाद मिला न्याय

सामना संवाददाता / मुंबई
मुंबई के सेशन कोर्ट ने १३ साल पुराने अभिनेत्री लैला खान और उनके परिवार की हत्या के मामले में दोषी परवेज टाक को मौत की सजा सुनाई है। परवेज टाक लैला खान का सौतेला पिता है। परवेज ने लैला, उनकी मां और चार भाई बहन की हत्या कर दी थी। इसके बाद उन सभी के शवों को इगतपुरी के फार्महाउस में दफना दिया गया था। लैला खान के पिता नादिर पटेल ने मुंबई के ओशिवरा पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई थी। उन्होंने अपनी शिकायत में कहा था कि परवेज और उसके साथी आसिफ शेख ने लैला और उसके पूरे परिवार का अपहरण कर लिया है। इसके बाद पुलिस ने खोजबीन शुरू की और फिर शव बरामद किया गया था। पुलिस के अनुसार, परवेज टाक लैला खान का सौतेला पिता है। वह लैला की मां शेलिना का तीसरा पति है। पुलिस ने दावा किया कि इगतपुरी बंगले में संपत्ति को लेकर बहस के बाद परवेज टाक ने पहले शेलिना की हत्या की और फिर लैला खान, उसकी बड़ी बहन अमीना, जुड़वां भाई-बहन जारा और इमरान और चचेरी बहन रेशमा की हत्या कर दी क्योंकि उन्होंने अपराध देखा था। पुलिस ने यह भी कहा था कि परवेज टाक ही पुलिस को मृतक के अवशेषों तक ले गया था, जिसे उसने फार्म हाउस में एक गड्ढे में दफनाया था। मुकदमे के दौरान शेलिना के दो पूर्व पतियों सहित ४० गवाहों से पूछताछ की गई। परवेज टाक ने दावा किया था कि उसे झूठा फंसाया गया था और पुलिस की जांच में कई गलतियां थीं, जिसमें मृतक के कंकाल के अवशेषों की बरामदगी पर विवाद भी शामिल था। जम्मू-कश्मीर के किश्तवाड़ का कारोबारी टाक से जब पुलिस ने पूछताछ की तो ईर्ष्या, धोखा और लालच की कहानी सामने आई। टाक जम्मू-कश्मीर में एक ठेकेदार के तौर पर काम करता था। उसने पूछताछ में बताया कि उसे शेख की शेलिना के साथ बढ़ती नजदीकी पसंद नहीं थी। अभियोजन पक्ष ने टाक के खिलाफ ४० गवाहों से पूछताछ की थी। पुलिस ने सड़े गले शवों को बाद में बंगले से बरामद किया गया था।

अन्य समाचार