मुख्यपृष्ठनए समाचारचुनावों में बहा चोरी का धन... ५ राज्यों में चुनाव के दौरान...

चुनावों में बहा चोरी का धन… ५ राज्यों में चुनाव के दौरान पकड़े गए१,७६० करोड़!

 चुनाव आयोग ने किया खुलासा
 पिछली बार से ७ गुना है ज्यादा

सामना संवाददाता / नई दिल्ली
चुनावों में काला धन यानी चोरी के धन का बहना कोई नई बात नहीं है। अभी पांच राज्यों में चल रहे चुनावों के दौरान चुनाव आयोग ने कुल १,७६० करोड़ रुपए जप्त किए हैं। इनमें नकदी के अलवा शराब जैसी चीजें भी शामिल हैं। खास बात यह है कि इस वक्त सबसे ज्यादा पैसा भाजपा के पास ही है। चुनावों व राजनीतिक दलों की गतिविधियों पर नजर रखनेवाली संस्था ने एक रिपोर्ट में बताया था कि देश में ८ राजनीतिक दलों को मिले चुनावी चंदे में सबसे ज्यादा ८० फीसदी चंदा भाजपा को मिला था। बाकी में अन्य सात पार्टियां शामिल हैं।
पांच राज्यों में निष्पक्ष मतदान कराए जाने के लिए अवैध रूप से पैसों के लेन-देन के खिलाफ चुनाव आयोग ने सख्त रुख अपनाया है। हालांकि, इसके बावजूद पानी की तरह पैसों को बहाया जा रहा है। इसके चलते इन राज्यों में चुनाव की तिथियों के एलान के बाद से अब तक १,७६० करोड़ रुपए जब्त किए गए हैं। यह २०१८ में इन्हीं प्रदेशों में हुए चुनाव के समय जब्त किए गए २३९.१५ करोड़ रुपए से सात गुना ज्यादा है। चुनाव आयोग ने छत्तीसगढ़ में २०.७७ करोड़ रुपए नकद व २.१६ करोड़ रुपए की शराब, ४.५५ करोड़ रुपए के ड्रग्स, २२.७६ करोड़ रुपए की कीमती मेटल्स, २६.६८ करोड़ रुपए के मुफ्त में बांटे गए सामान भी पकड़े। इसी तरह मध्य प्रदेश में ३३.७२ करोड़ रुपए नकद मिले, ६९.८५ करोड़ रुपए की शराब, १५.५३ करोड़ रुपए के ड्रग्स, ८४.१ करोड़ रुपए की कीमती मेटल्स और १२०.५३ करोड़ रुपए के मुफ्त सामान मिले। मध्य प्रदेश में कुल मिलाकर ३२३.७० करोड़ रुपए जब्त हुए। राजस्थान में कुल मिलाकर ६५०.७० करोड़ रुपए जब्त हुए। तेलंगाना में २२५.२३ करोड़ रुपए नकद, ८६.८२ करोड़ रुपए की शराब व १०३.७४ करोड़ रुपए के ड्रग्स पकड़े गए। मिजोरम में कुल मिलाकर ४९.६० करोड़ रुपए की नकदी व सामान जब्त हुए।

अन्य समाचार

विराट आउट

आपके तारे