मुख्यपृष्ठखबरेंगौ तस्करी पर लगे लगाम! शिवसेना जम्मू इकाई ने उठाई मांग

गौ तस्करी पर लगे लगाम! शिवसेना जम्मू इकाई ने उठाई मांग

सामना संवाददाता / जम्मू। जम्मू-कश्मीर में गौ तस्करी के मामले बढ़ने से शिवसेना जम्मू-कश्मीर इकाई ने इस पर केंद्र सरकार से लगाम लगाने की मांग की है। शिवसेना जम्मू-कश्मीर इकाई प्रमुख मनीष साहनी एवं नटवर लाल ने संयुक्त रूप से पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि अनुच्छेद ३७० के खत्मा और जम्मू -कश्मीर में आईपीसी लागू होने के बाद से गौ तस्करी के मामले बढ़ने लगे है। साहनी ने कहा कि सिस्टम में खामियां एवं संबंधित विभागों का नरम रवैया भी गौ तस्करों के लिए मददगार साबित हो रहे हैं। जम्मू-कश्मीर पुलिस महानिदेशक एवं प्रशासन की तमाम सख्ती एवं कड़े बयानों के बावजूद मवेशियों की तस्करी पर कड़ी कानूनी कार्रवाई को अंजाम नहीं दिया जा रहा है। साहनी ने कहा कि मवेशियों की आधार टैगिंग भी मजाक बन‌कर रह गई है।‌ अधिकतर मवेशी बिना टैगिंग के देखे जा रहे हैं, जिससे तस्करी को बढ़ावा मिल रहा है। साहनी ने कहा कि सख्त कानून नहीं होने के कारण न्यायालय भी मामूली जुर्माना लगाकर मवेशियों को छोड़ने का निर्देश जारी कर देता है, वहीं पुलिस प्रशासन भी तत्काल न्यायालय के आदेशों को मानते हुए मवेशियों को छोड़ देता है। साहनी ने जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल से मांग की है कि गौ तस्करों पर पीएसए अनिवार्य बनाया जाए, पशुओं की बिना टैगिंग पर प्रतिबंत लग। साहनी ने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि अगर सरकार गौ तस्करी पर अंकुश लगाने को लेकर सख्त कदम नहीं उठाती है तो शिवसेना सड़कों पर उतरने के लिए मजबूर होगी।

अन्य समाचार