मुख्यपृष्ठनए समाचार‘शिव संवाद’ यात्रा को तूफानी प्रतिसाद : ‘खाती-पीती’ भाजपा के पास... गद्दारों...

‘शिव संवाद’ यात्रा को तूफानी प्रतिसाद : ‘खाती-पीती’ भाजपा के पास… गद्दारों का गेम हुआ!

• अलीबाग-महाड में मूसलाधार बारिश में आदित्य ठाकरे की धुआंधार सभा
• बागियों की खूब ‘धुलाई’ की
सामना संवाददाता / मुंबई
सूरत जाकर, गुवाहाटी में खा-पीकर और गोवा में ‘धांगड़-धींगा’ नाचकर बागियों को क्या मिला? ४१ दिनों के बाद विभागों का बंटवारा हुआ। उस कैबिनेट में रायगड़ का कौन है? मुंबई का कौन है? एक भी महिला है क्या? पहली पंक्ति के बागियों में कितने मंत्री हुए? ऐसा सवाल करते हुए ‘खाती-पीती’ भाजपा के पास गए और दोयम दर्जे का विभाग पानेवाले गद्दारों का गेम हो गया। इस तरह का जबरदस्त प्रहार शिवसेना नेता और युवासेना प्रमुख आदित्य ठाकरे ने किया। आदित्य ठाकरे के ‘शिव संवाद’ यात्रा को अलीबाग और महाड में तूफानी प्रतिसाद मिला। मूसलाधार बारिश में भी आदित्य ठाकरे की धुआंधार सभा हुई। इस दौरान उन्होंने बागियों की खूब ‘धुलाई’ की। रायगड़ में कल आदित्य ठाकरे की ‘शिव संवाद’ यात्रा का तीसरा चरण संपन्न हुआ। पहली सभा अलीबाग के जेएसएम चौक, जबकि दूसरी सभा महाड के छत्रपति शिवाजी चौक पर हुई। आदित्य ठाकरे का आगमन होते ही दोनों सभाओं  में मूसलाधार बारिश शुरू हो गई, लेकिन भीड़ डटी रही। इन तूफानी सभाओं में उन्होंने बागियों की जमकर धुलाई की। आदित्य ठाकरे ने कहा कि आज विधानसभा की सीढ़ी पर मैं बैठा था। शिवसेना, कांग्रेस, राष्ट्रवादी और मित्र दल साथ में थे। हम जब घोषणा कर रहे थे, हमारी तरफ के सभी गद्दार लाइन में धीरे-धीरे छिपकर अंदर जा रहे थे। मैं उनके चेहरों को देख रहा था। वे नजर से नजर नहीं मिला रहे थे। हालांकि उनके चेहरे पर साफ दिख रहा था कि हमारा गेम हो गया है। (प्रचंड हंसी… शिवसेना जिंदाबाद के नारे) अलीबाग में भाजपा कार्यालय के सामने ही आदित्य ठाकरे की ‘शिव संवाद’ यात्रा की सभा हुई। इस दौरान शुरुआत में ही ‘आप घबराओ मत, यह लड़ाई आपके खिलाफ में नहीं’ ऐसा कार्यालय में मौजूद भाजपा कार्यकर्ताओं को स्पष्ट करते हुए आदित्य ठाकरे बागी विधायकों पर जमकर बरसे।

यह सरकार महाराष्ट्र के ५ टुकड़े करेगी
आदित्य ठाकरे ने जोरदार हमला करते हुए कहा कि शिवसेना को तोड़ो, स्थानीय हिंदू में फूट डालो, ठाकरे को अकेला करो, यही उनकी इच्छा है। ये लोग महाराष्ट्र के पांच टुकड़े करेंगे, दंगा कराएंगे। इन्हें महाराष्ट्र को पीछे लेकर जाना है।
उपमुख्यमंत्री ही हैं सच्चे ‘सुपर सीएम’
गद्दारी करनेवाले और  सूरत, गुवाहाटी से घूमकर आए इन डरपोक लोगों ने जब शपथ ली तो असली मुख्यमंत्री ने भी शपथ ली। असली मुख्यमंत्री मतलब उपमुख्यमंत्री। इस राज्य में उपमुख्यमंत्री नहीं है।  उपमुख्यमंत्री ही असली सीएम हैं… सुपर सीएम कहते हुए जब आदित्य ठाकरे ने भाजपा कार्यालय के कार्यकर्ताओं को देखा, तो इन कार्यकर्ताओं ने भी हंसकर प्रतिसाद दिया और फिर उपस्थित लोगों को बहुत हंसी आई।

यह बेईमान सरकार गिर जाएगी, मतलब गिरेगी ही 
पिछली महाविकास आघाड़ी सरकार में जो मंत्री थे, वही मंत्री बने। लेकिन उन्हें विभाग दोयम दर्जे का मिला है। उनके चेहरे आज देखने लायक थे। मुझे उनसे बस इतना ही पूछना है कि हमने आपको क्या कमी पड़ने दी? शिवसैनिकों ने आपको क्या नहीं दिया? इसका एकमात्र जवाब है, हमने उन पर जरूरत से ज्यादा भरोसा किया और प्रेम जताया। जब हमने आंखें बंद कर उन्हें गले से लगाया तो उनके हाथ में खंजर था। उन्होंने हमारी पीठ में छुरा घोंप दिया। शिवसेना के साथ विश्वासघात करके बनी यह सरकार असंवैधानिक, गद्दारों की, बेईमान और अवैध है। हमें न्याय देवता पर भरोसा है। यह सरकार गिर जाएगी मतलब  गिर जाएगी, ऐसा  आदित्य ठाकरे के कहते ही ‘शिवसेना जिंदाबाद…’, ‘उद्धव ठाकरे आगे बढ़ो… आदित्य ठाकरे आगे बढ़ो… हम तुम्हारे साथ हैं’ के गगनभेदी नारे लगे।

अन्य समाचार